India-China standoff: अमेरिका की एक प्रमुख पत्रिका ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया कि भारत के लद्दाख इलाके में चीन की सेना की हालिया घुसपैठ के कर्ताधर्ता खुद राष्ट्रपति शी चिनफिंग हैं। भारतीय सेना ने जिस आक्रामक ढंग से जवाब दिया, उससे चीनी नेतृत्व अचंभित है। भारत के इस अप्रत्याशित जवाब से चीन का कदम फ्लॉप साबित हुआ। चीनी राष्ट्रपति अब भविष्य में अपने देश में पैदा होने वाली चुनौती के मद्देनजर बचाव का रास्ता तलाश रहे हैं।

15 जून को गलवन घाटी में हुए हिंसक टकराव में जहां 20 भारतीय सैनिक की जान गई, वहीं जवाबी कार्रवाई में चीन के कम से कम 43 सैनिक मारे गए थे, यह संख्या 60 भी हो सकती है।

Newsweek का सनसनीखेज खुलासा:

अमेरिका की प्रतिष्ठित पत्रिका Newsweek ने अपने ताजा अंक में लिखा है कि चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी इस समय बदलाव के दौर से गुजर रही है। ऐसे में शी चिनफिंग के लिए चुनौतियां बढ़ रही हैं। भारतीय सीमा पर चीन की सेना की विफलता पार्टी संगठन में चिनफिंग के लिए भारी पड़ सकती है। पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) का विफल होना चिनफिंग को दुष्परिणाम दे सकता है। पैगोंग सो झील के उत्तरी किनारे पर पीएलए ने घुसपैठ कर अड्डा जमाया, तो उसे जवाब देने के लिए नजदीकी पहाडि़यों पर भारतीय सैनिकों ने कब्जा जमा लिया। शी चिनफिंग अब कोई और कड़ा कदम उठा सकते हैं।

भारतीय सैनिकों की चप्‍पे-चप्‍पे पर नजर:

अब चीनी सैनिकों की सारी गतिविधियां भारतीय सैनिकों की नजरों में हैं। जरा सी गड़बड़ करने पर उन्हें आसानी से निशाना बनाया जा सकता है। राष्ट्रपति चिनफिंग चीन के सेंट्रल मिलिट्री कमीशन के भी चेयरमैन हैं। इस लिहाज से पीएलए की हर गतिविधि के लिए वह जिम्मेदार हैं। पीएलए कोई कदम उनकी स्वीकृति के बगैर नहीं उठा सकती। इसलिए निश्चित रूप से सेना के सर्वोच्च अधिकारी के रूप में चिनफिंग ने ही भारतीय सीमा के उल्लंघन के लिए हरी झंडी दिखाई है। पत्रिका ने फाउंडेशन फॉर डिफेंस ऑफ डेमोक्रेसीज के लियो पास्कल के अनुसार बताया कि गलवन में हुए टकराव में चीन के मारे गए सैनिकों की संख्या 60 तक हो सकती है। Newsweek ने चेताया कि इस विफलता की वजह से शी चिनफिंग अब भारत के खिलाफ कोई आक्रामक कदम उठा सकते हैं।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020