ब्रिटेन। भारतीय मूल के कैंसर एक्‍सपर्ट हरपाल सिंह कुमार को महारानी एलिजाबेथ ने गुरुवार को नाइट की उपाधि दी। देश के विभाजन के समय उनके माता-पिता पाकिस्‍तान छोड़कर भारत चले आए थे और फिर वे लंदन जाकर बस गए।

एनुअल न्‍यू ईयर्स ऑनर्स लिस्‍ट में प्रभावशाली कार्य के लिए सिंह का नाम कई अन्‍य भारतीय मूल के लोगों के साथ शामिल किया गया था। कैंब्रिज और हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़े 50 वर्षीय कुमार प्रमुख चैरिटी ऑर्गेनाइजेशन कैंसर रिसर्च यूके के प्रमुख कार्यकारी अधिकारी हैं।

यह भी पढ़ें : ज्‍यादा मेकअप किया तो ब्रिटिश एशियन टीनएज को फेंका बस के बाहर

केमिकल इंजीनियर के रूप में प्रशिक्षण लेने के बाद कुमार ने 1992 में मैककिन्‍से के साथ हेल्‍थकेयर कंसल्‍टेंट के रूप में काम किया। इसके बाद वह इस क्षेत्र में आगे ही बढ़ते गए।

नाइट की पदवी के साथ दिए गए प्रशस्ति पत्र कहा गया है कि कैंसर की रोकथाम, शीघ्र निदान, कैंसर के उपचार और अनुसंधान को बढ़ावा देने में उन्‍होंने बेहद प्रभावशाली काम किया है। CRUK की आय और अनुसंधान खर्च इस समय बुलंदी पर है।

यह भी पढ़ें : अमेरिका में चर्चा, डॉगी को पैंट कैसे पहनाई जाए

उनके नेतृत्‍व में सरकार ने आगे कदम उठाते हुए धूम्रपान को कम करने और 18 वर्ष से कम आयु के लोगों के लिए सन-बेड प्रतिबंधित करने का काम किया। वह स्‍वतंत्र कैंसर टास्‍कफोर्स के अध्‍यक्ष हैं और एनएचएस कैंसर स्‍ट्रैटजी अचीविंग वर्ल्‍ड क्‍लास कैंसर आउटकम के लेखक हैं।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket