बीजिंग। भारत की तरफ आंखे उठाने की गुस्ताखी कर चुके चीन को अब इसका बड़ा खामियाजा भुगतना पड़ रहा है। भारत ने चीनी सामान के साथ ही चीनी एप्स का इस्तेमाल भी करना बंद कर दिया है और उन्हें यूजर्स अपने मोबाइल से डिलीट कर रहे हैं। टिक-टॉक और वी-चैट सहित चीन के 59 मोबाइल एप्स को बैन करने के भारत के फैसले के बाद चीन में हाय-तौबा मच गई है। मंगलवार की सुबह से ही चीन की सोशल मीडिया में यह विषय ट्रेंडिंग टॉपिक बना हुआ है।

भारत के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के एक बयान में कहा गया है कि सोमवार को चीन के 59 ऐप को बैन कर दिया गया है क्योंकि "उपलब्ध जानकारी के मद्देनजर, वे भारत की संप्रभुता और अखंडता, भारत की रक्षा, राज्य की सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए पूर्वाग्रही गतिविधियों में लगे हुए हैं। चीन में ट्विटर की तरह के ही स्वदेशी प्लेटफॉर्म वेइबो पर सक्रिय लाखों चीनी नेट यूजर्स ने समाचार साझा किया और नई दिल्ली के फैसले के पीछे के कारणों पर चर्चा की।

चीन में लगभग 10 बजे इस विषय को लगभग 6.3 करोड़ बार देखा गया था, और Weibo प्लेटफार्मों पर कम से कम 4,000 लोग सक्रिय रूप से इस पर चर्चाएं कर रहे थे। कई चीनी ऑनलाइन उपयोगकर्ताओं ने प्रतिबंध पर टिप्पणी की। टिप्पणी के विषयों में से एक यह था कि चीनी नागरिक भी भारतीय उत्पादों का उपयोग बंद करना चाहते हैं, लेकिन उन्हें कोई भी नहीं मिल रहा है।

एक यूजर ने लिखा- हम भारतीय उत्पादों का बहिष्कार करना चाहते हैं, लेकिन मुझे अपने घर में कोई भी भारतीय उत्पाद नहीं मिला। भारत की सूची में जिन चीनी कंपनियों का नाम बैन करने के लिए शामिल किया गया है, उन्होंने अभी तक इस मामले में कोई टिप्पणी नहीं की है। नई दिल्ली द्वारा चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगाने का फैसला उस वक्त किया गया, जब लोकप्रिय चीनी सोशल मीडिया ऐप वीचैट ने भारत के दूतावास (ईओआई) द्वारा वर्तमान सीमा संघर्ष पर किए गए अपडेट को हटा दिया, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वह बयान भी शामिल था, जिसमें उन्होंने भारतीय सेना के 20 जवानों शहीद होने की जानकारी दी थी।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना