इंडोनेशिया के जावा द्वीप पर शनिवार को एक ज्वालामुखी फट गया। जिससे मरने वालों की संख्या 34 पहुंच गई है। बचाव अभियान मंगलवार को भी जारी रहा। पूर्वी जावा प्रांत के लुमागांज जिले में माउंट सेमेरू ने 40,000 फीट से अधिक की राख के मोटे अंगारे उगल दिए। जिसमें अचानक विस्फोट के बाद सीरिंग गैस और लावा नीचे की ओर बह रहा था। आपदा ने पूरी सड़कों को कीचड़ और राख से भर दिया। कई घरों और वाहनों को नुकसान पहुंचाया। सेमेरू ज्वालामुखी के विस्फोट के बाद का वीडियो सामने आया है, जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे लोग अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भाग रहे हैं।

वहीं स्थानीय खोज और बचाव एजेंसी के प्रमुख वायन सुयत्ना ने मंगलवार को राज्य मीडिया को बताया कि अब तक 34 लोगों की मौत हो चुकी हैं। वह 16 की तलाश की जा रही है। प्रभावित इलाके से लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया है।

बचावकर्मी विस्फोट के बाद से खतरनाक परिस्थितियों से जूझ रहे हैं। ज्वालामुखी के मलबे में बचे नागरिकों और शवों की तलाश कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि विस्फोट के कारण कई इमारतें और गाड़ियों नष्ट हो गई है। खोज दल ने ऑपरेशन में सहायता के लिए कुत्तों को भी तैनात किया है।

अधिकारियों ने कहा कि मंगलवार को भी सेमेरू ज्वालामुखी में तीन छोटे विस्फोट हुए। जिससे करीब एक किलोमीटर तक राख फैल गई।

स्थानीय लोगों को क्षेत्र के 5 किमी के अंदर यात्रा नहीं करने की सलाह दी है, क्योंकि पास की हवा अत्यधिक प्रदूषित है।

Posted By: Shailendra Kumar