तेहरान। ईरान में दुर्घटनाग्रस्त हुए यूक्रेन (Ukrain) के यात्री विमान के मामले में ईरान में कुछ लोगों की गिरफ्तारी हुई है, लेकिन अभी तक उनके नाम के बारे में कोई खुलासा नहीं किया गया है। यह भी नहीं बताया गया है कि कितने लोगों को गिरफ्तार किया गया है। हालांकि, न्यायपालिका ने यह जरूर कहा है कि यूक्रेन के विमान पर हुए मिसाइल हमले के सिलसिले में यह गिरफ्तारियां की गई हैं, जिसमें 176 लोगों की मौत हो गई थी।

यह घोषणा ऐसे समय पर हुई है, जब ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी ने विमान हादसे की जांच के लिए स्पेशल कोर्ट गठित करने की बात कही थी। बताते चलें कि इस विमान के मार गिराए जाने के बाद से ही तेहरान में जगह-जगह सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अल-खमनेई के इस्तीफे की मांग उठ रही थी।

ईरानी राज्य के मीडिया ने न्यायपालिका के प्रवक्ता घोलमहोसैन एसमेली के हवाले से कहा कि मामले की व्यापक जांच हुई है और कुछ व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया या यह नहीं कहा कि कितने लोगों को हिरासत में लिया गया है।

ईरान, जिसने शुरू में आरोपों को खारिज कर दिया था कि मिसाइल हमले की वजह से विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था। मगर, बाद में स्वीकार कर लिया था कि रेवोल्यूश्नरी गार्ड ने बुधवार की दुर्घटना के बाद और बढ़ते सबूतों के सामने गलती से यूक्रेनी विमान को मार गिराया था।

हसन रूहानी ने मंगलवार को ईरान में एक भाषण में कहा कि न्यायपालिका को न्यायाधीश और दर्जनों विशेषज्ञों के साथ इस मामले की जांच के लिए एक विशेष अदालत का गठन करना चाहिए। यह एक सामान्य मामला नहीं है। पूरी दुनिया इस अदालत को देख रही होगी।

बताते चलें कि इराक के बगदाद एयरपोर्ट के पास अमेरिकी ड्रोन विमान के हमले में ईरान के सर्वोच्च सैन्य कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या कर दी गई थी। इसके बाद ईरान ने बदले की कार्रवाई करनते हुए एक के बाद एक कई मिसाइलें इराक में अमेरिकी सैन्य ठिकाने पर दागी थीं। इन्हीं में से एक की चपेट में आने की वजह से यूक्रेन का विमान क्रैश हो गया था।

उस वक्त इस हादसे में ईरान ने अपना हाथ होने की बात से साफ इनकार कर दिया था। हालांकि, बाद में ईरान ने स्वीकार किया था कि यह मिसाइल हमला उसके सेना की तरफ से गलती से हुआ था क्योंकि उसने एयर डिफेंस सिस्टम को एक्टिवेट कर दिया था।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

fantasy cricket
fantasy cricket