काबुल। अफगानिस्तान में शनिवार देर शाम एक शादी समारोह में हुए जबरदस्त बम धमाके की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने ली है। इस विस्फोट में महिलाओं और बच्चों सहित कम से कम 182 लोग घायल हो गए थे और 63 से अधिक की मौत हो गई है। आईएस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट किए गए बयान में दावा किया कि उसके लड़ाके ने काबुल में इस समारोह में खुद को उड़ा लिया था। वहीं, अन्य ने सुरक्षा बलों के पहुंचने पर विस्फोटकों से भरे वाहन में धमाका किया।

इस इलाके में इस्लामिक स्टेट का प्रभुत्व बढ़ता जा रहा है। आतंकियों ने समय-समय पर अफगान शादियों को निशाना बनाया है। दरअसल, कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की कमी की वजह से शादी समारोह को निशाना बनाना आसान होता है। 12 जुलाई को पूर्वी अफगान प्रांत में आईएस के एक आतंकी ने शादी समारोह पर हमला कर दिया था, जिसमें कम से कम छह लोग मारे गए।

अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय के मुताबिक, शनिवार रात स्थानीय समय के अनुसार 10.40 (भारतीय समयानुसार रात 11.40) बजे अफगानिस्तान में एक शादी की पार्टी के दौरान होटल में यह धमाका किया गया था। करीब 20 मिनट के लिए हॉल धुएं से भर गया था। विस्फोट के दो घंटे बाद भी शवों को हॉल से बाहर निकालने के लिए अधिकारी मशक्कत कर रहे थे।

बताते चलें कि अमेरिका अपने 14 हजार सैनिकों को अफगानिस्तान से निकालने के लिए तालिबान के साथ एक समझौता करने जा रहा है। इस बीच आईएस के उदय ने वहां के स्थानीय निवासियों के मन में शंका पैदा कर दी है। उन्हें डर है कि अमेरिकी सैनिकों को निकलने के बाद अफगानिस्तान की हालत सीरिया जैसी न हो जाए।