लंदन। आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने अपने आतंकियों के लिए ट्रैवल एडवाइजरी जारी करते हुए कहा है कि वे कोरोना वायरस से बुरी तरह प्रभावित यूरोपीय देशों की यात्रा करने से बचें। आईएस ने यूरोपीय देशों को इस महामारी की भूमि के रूप में करार दिया है। द संडे टाइम्स के अनुसार, आईएस के अल-नबा समाचार पत्र के ताजे अंक में यूरोप की यात्रा के खिलाफ चेतावनी देते हुए 'शरिया निर्देशों' का एक नए सेट जारी किया है।

मध्य पूर्व स्थित इस आतंकी संगठन ने इससे पहले यूरोप में हमलों की साजिश रचने के लिए आतंकियों को प्रोत्साहित किया था। मगर, अब उसने अपने आतंकियों को निर्देश दिया है कि जो आतंकी इस बीमारी से संक्रमित हो चुके हैं, वे अपने इलाकों को नहीं छोड़ें, ताकि इस वायरस को फैलने से रोका जा सके। समाचार पत्र में कहा गया है कि स्वस्थ आतंकियों को महामारी वाली भूमि में प्रवेश नहीं करना चाहिए और वायरस से पीड़ित आतंकियों को इससे बाहर नहीं निकलना चाहिए।

इसमें आतंकियो को यह दिशा-निर्देश भी दिया गया है कि जम्हाई लेते समय और छींकने पर अपना मुंह ढंक कर रखें और नियमित रूप से हाथ भी धोएं। समाचार पत्र में एक "प्लेग" को संदर्भित किया गया है, जिसमें कहा गया है कि यह वायरस 'ईश्वर द्वारा भेजी गई पीड़ा है, जिसे वह चाहता है उसे ही बीमार करती है'। इसके साथ ही यह भी कहा गया है कि यह बीमारी अपने आप नहीं, बल्कि ईश्वर के आदेश और फरमान से हमला करती है।

बताते चलें कि कई हार के बाद आईएस ने मध्य पूर्व में बहुत कुछ खो दिया है, लेकिन यह अभी भी टुकड़ों-टुकड़ों में इराक और सीरिया में सक्रिय है। मध्य पूर्व भी कोरोनोवायरस प्रकोप की चपेट में आ गया है। इराक में कोरोना वायरस से संक्रमण के 101 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 10 लोगों की मौत हो चुकी है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस