वाशिंगटन। अमेरिका में एक ऑस्ट्रेलियाई इस्लामी विद्वान ने पाकिस्तान को यह कहकर चौंका दिया है कि कश्मीर उसका हिस्सा कभी भी नहीं होगा। खुद को सुधारवादी इमाम बताने वाले इमाम मुहम्मद तावहीदी ने जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए हटाए जाने पर कहा कि कश्मीर कभी भी पाकिस्तान का हिस्सा नहीं था। और ना ही कश्मीर कभी भविष्य में भी पाकिस्तान का हिस्सा बनेगा।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और कश्मीर दोनों ही भारत के अंग हैं। विवादास्पद ऑस्ट्रेलियाई शिया इमाम ने ट्वीट किया कि हिंदू धर्म से इस्लाम कबूल करने वाले मुसलमान यह तथ्य कभी भी नहीं बदल सकते कि पूरा क्षेत्र ही 'हिंदू भूमि' है। भारत सिर्फ पाकिस्तान से ही नहीं, बल्कि इस्लाम से भी प्राचीन है। इस संबंध में ईमानदार रहें।' इमाम मुहम्मद तावहीदी खुद को शांति का प्रवर्तक बताते हैं।

उन्होंने अपनी चर्चित किताब 'फार-लेफ्ट फार-राइट, कीप अ बैलेंस इन लाइफ' में कट्टरपंथ को सिरे से खारिज किया गया है। अपने हाल के ट्वीट में तावहीदी ने कहा था कि मेरे ज्यादातर अनुयायी आमतौर पर अच्छे लोग हैं। इनसे ही मुझे कट्टरपंथियों से लड़ने की ताकत मिलती है।

Posted By: Yogendra Sharma