यरुशलम। सीरिया के आकाश में शनिवार को इजरायली एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया गया। विमान के पायलट की जान बच गई है और वह सुरक्षित है। यह विमान ईरानी ड्रोन के संचालन केंद्र को नष्ट करने के मकसद से सीरिया सीमा के भीतर गया था, तभी उस पर एंटी एयरक्राफ्ट गन से फायर हुआ।

इजरायली सेना के प्रवक्ता के अनुसार इजरायल की सीमा में घुसे ईरानी ड्रोन को जब पकड़ा गया तो पता चला कि उसका संचालन सीरिया से हो रहा था। इसके बाद संचालन केंद्र नष्ट करने के लिए इजरायली विमान सीरिया की सीमा के भीतर घुसा था। हमले से ध्वस्त हुए विमान का मलबा इजरायली सेना ने दिखाया है।

सीरिया में गृह युद्ध के आठ साल के समय में पहली बार इजरायली लड़ाकू विमान को मार गिराए जाने की घटना हुई है। सीरियाई मीडिया के अनुसार देश के सैन्य ठिकाने पर हमले के लिए आए इजरायली विमान को मार गिराया गया है। दावा किया गया है कि जवाबी हमले में एक से ज्यादा विमानों को नुकसान हुआ है।

मंगलवार को इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने सीरिया से लगी सीमा का दौरा करके इजरायल के धैर्य की परीक्षा न लेने की चेतावनी दी थी। उल्लेखनीय है कि सीरिया में ईरान और चरमपंथी संगठन हिज्बुल्ला राष्ट्रपति बशर अल-असद के समर्थन में लड़ रहे हैं। ये दोनों ही इजरायल के खिलाफ हैं। इसलिए सीमा पर जब-तब टकराव होता रहता है।