ह्यूस्टन। अमेरिका और ईरान के तनाव भले ही चरम पर हैं, लेकिन अमेरिका ने पहली बार ईरानी मूल की अमेरिकी नागरिक को अंतरिक्ष में नासा के अगले अभियान के लिए चुना है। ईरानी मूल की इस महिला का नाम जैस्मीन मोगबेली है और वह अमेरिकी मरीन कोर की मेजर जैस्मीन हेलीकॉप्टर गनशिप पायलट के तौर पर अफगानिस्तान में 150 से ज्यादा अभियानों में हिस्सा ले चुकी हैं।

एमआइटी यूनिवर्सिटी से स्नातक जैस्मीन बास्केटबॉल की भी बेहतरीन खिलाड़ी हैं। जैस्मीन का चयन ऐसेसमय हुआ है जब अमेरिकी हमले में ईरानी कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत के बाद दोनों देशों में तनाव काफी ज्यादा बढ़ गया है। 36 साल की जैस्मीन के माता-पिता ईरानी थे। 1979 में हुई इस्लामिक क्रांति के बाद वे ईरान छोड़कर जर्मनी में बस गए थे, जहां पर जैस्मीन और उनके भाई का जन्म हुआ। न्यूयॉर्क के बाल्डविन में पली-बढ़ीं जैस्मीन उसको ही अपना घर मानती हैं। मैसाच्युसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से एयरोनॉटिकल इंजीनियरिग में स्नातक जैस्मीन ने जब सैन्य पायलट बनने की इच्छा जताई थी तो उनके माता-पिता को काफी हैरानी हुई थी। लेकिन जब वह सेना में शामिल हो गईं तो माता-पिता ने उसका पूरा साथ दिया और उसकी हौसलाअफ्जाई की।

जैस्मीन 2005 में अमेरिकी सेना में शामिल हुई थीं। जैस्मीन मोगबेली ने अपनी सभी सफलताओं के लिए माता-पिता और अपने पार्टनर सैम को श्रेय दिया है और कहा है कि दे, मुझे उम्मीद है कि मेरी इस सफलता से सामान्य पृष्ठभूमि से आने वाले लोग प्रभावित होंगे। जैस्मीन तीन माह पहले ही अपने पार्टनर सैम के साथ शादी के बंधन में बंधी हैं।

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस