इस्लामाबाद। भारत और पाकिस्तान में करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। इस बीच, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा है कि मैंने करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन में भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह को आमंत्रित किया था। मैं उनका शुक्रगुजार हूं। उन्होंने चिट्ठी लिखकर कहा है कि वो आएंगे, लेकिन चीफ गेस्ट के रूप में नहीं बल्कि एक आम आदमी की तरह। यदि मनमोहन सिंह एक सामान्य यात्री की तरह भी आते हैं तो पाकिस्तान उनका स्वागत करेगा।

बता दें, पाकिस्तान 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर भारतीय श्रद्धालुओं के लिए खोलेगा। वहीं पीएम मोदी 8 नवंबर को उद्घाटन करेंगे। इसके लिए पीएम पंजाब के डेरा बाबा नानक जाएंगे। भारत के नागरिक वहां बिना वीजा के जा सकते हैं, हालांकि पाकिस्तान द्वारा वसूली जा रही 20 डॉलर (करीब 1400 रुपए) की फीस का विरोध किया जा रहा है। भारत कई बार कह चुका है कि यह राशि ज्यादा है, लेकिन पाकिस्तान ने कम करने से इन्कार कर दिया और इससे होने वाली कमाई पर उसका ध्यान है। पाकिस्तान का मानना है कि हर दिन 5000 यात्री भारत से जाएंगे यानी उसे हर महीने 72 लाख रुपए की कमाई होगी।

इससे पहले पाकिस्तान ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित किया था, लेकिन मनमोहन सिंह ने इन्कार कर दिया। हालांकि वे वहां जाने वाले पहले जत्थे में जरूर शामिल होंगे।

अब तक तय की गई व्यवस्था के मुताबिक, भारत से करतापुर जाने वाले श्रद्धालुओं को सीमा पर एक स्लिप दी जाएगी। यह स्लिप उसी दिन के लिए होगी और शाम तक श्रद्धालु को भारतीय सीमा में वापस लौटना होगा।

Posted By: Arvind Dubey