Kashmir Issue at UNGA: पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आता है। हर बार मुंंह की खाने के बाद भी वह अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर कश्मीर मुद्दा उठाने से बाज नहीं आ रहा है। अब मौजूदा प्रधानमंत्री शाहबाज शरीफ ने यही किया है। संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन में शाहबाज शरीफ ने कश्मीर का रोना रोया। उन्होंने कहा, 'हम भारत सहित अपने सभी पड़ोसियों के साथ शांति चाहते हैं। जब तक जम्मू-कश्मीर विवाद का न्यायसंगत और स्थायी समाधान नहीं होता है, दक्षिण एशिया में शांति और स्थिरता नहीं आ सकती है।' बाद में भारत ने राइट टू रिप्लाय के अधिकार का प्रयोग करते हुए पाकिस्तान को जवाब दिया और आइना दिखाया।

Kashmir Issue at UNGA: क्या बोले शाहबाज शरीफ

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत के साथ शांति का आह्वान किया और कहा कि उनके पड़ोसी देश को अनुकूल माहौल बनाने की दिशा में विश्वसनीय कदम उठाने चाहिए। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि भारत और पाकिस्तान पड़ोसी हैं और हमेशा के लिए हैं, चुनाव हमारा है कि हम शांति से रहें या एक-दूसरे से लड़ते रहें।

उन्होंने आगे कहा, 1947 के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच 3 युद्ध हुए हैं और इसके परिणामस्वरूप, दोनों पक्षों में केवल दुख, गरीबी और बेरोजगारी बढ़ी है। अब यह हम पर निर्भर है कि हम अपने मतभेदों, अपनी समस्याओं और अपने मुद्दों को शांतिपूर्ण बातचीत और चर्चा के माध्यम से सुलझाएं।'

'मुझे लगता है कि यह उचित समय है कि भारत इस संदेश को समझे कि दोनों देशों के बीच युद्ध कोई विकल्प नहीं है, केवल शांतिपूर्ण बातचीत से ही मुद्दों का समाधान हो सकता है।'

Kashmir Issue at UNGA: भारत ने दिया यह जवाब

यूएन में भारत के प्रतिनिधि ने अपने रिप्लाय में कहा, ' पाकिस्तान अपने ही देश में कुकर्मों को छुपाता है और भारत पर सवाल उठाता है। पाकिस्तान कश्मीर पर बोलने से पहले सीमा पार से आतंकवाद बंद करे। पाकिस्तान भारत में अल्पसंख्यकों की बात करता है, जबकि उसके वहीं हिंदुओं और अन्य अल्पसंख्यकों के साथ आए दिन अत्याचार हो रहा है।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close