सियोल। पूरी दुनिया जहां कोरोनाविरस से बचने के तरीकों की तलाश की जा रही है, वहीं उत्तर कोरिया में वायरस से संक्रमित लोगों को गोलियों से उड़ाया जा रहा है। उत्तर कोरियाई शासक किम जोंग उन को दुनियाभर में तानाशाही के लिए जाना जाता है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, चीन से लौटे एक अधिकारी को कोरोना वायरस के संक्रमण के संदेह में आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था। मगर, अधिकारी इस बात को भूल गया और उसने सार्वजनिक टॉयलेट का इस्तेमाल कर लिया।

इस गलती के लिए तानाशाह किम जोंग उन ने उस अधिकारी को गोली मार दी। दक्षिण कोरियाई समाचार पत्र डोंग-ए-इल्बो न्यूज (Dong-i-Ilbo News) के अनुसार, चीन से लौटने वाले अधिकारी को कोरोनोवायरस से संक्रमित होने के संदेह पर पूरी तरह से अलग रखा गया था। मगर, अधिकारी ने गलती से सार्वजनिक बाथरूम का इस्तेमाल किया जिसके बाद उत्तर कोरिया में कोरोना वायरस संक्रमण फैलने के डर से अधिकारी को गोली मार दी।

इसके अलावा उत्तर कोरिया की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी के एक अन्य अधिकारी ने चीन की अपनी यात्रा के बारे में छुपाया था, जिसके बाद इसे देश से बाहर निकाल दिया गया। यह खबर यूके मिरर में प्रकाशित की गई थी। उत्तर कोरिया का कहना है कि उसके देश में कोरोनावायरस से संक्रमण का एक भी मामला नहीं मिला है। प्योंगयांग में डब्ल्यूएचओ के अधिकारियों का कहना है कि अभी तक इस वायरस से संक्रमण का कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है।

वहीं, विश्लेषकों को इस बात का पूरा भरोसा नहीं है कि उत्तर कोरिया में कोरोनावायरस का एक भी मामला सामने नहीं आया है, जिसकी सीमा चीन से केवल 880 मील है। सेंटर फॉर द नेशनल इंटरेस्ट में कोरियन स्टडीज के निदेशक हैरी कैगिंस ने एक साक्षात्कार में कहा कि उत्तर कोरिया में कोरोनोवायरस संक्रमण की आशंका को पूरी तरह से खारिज नहीं किया जा सकता है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai