कुआलालंपुर। देश के कुछ हिस्सों में हवा की गुणवत्ता के बेहद खराब होने की वजह से मलेशिया क्लाउड सीडिंग कराने कि लिए तैयार है। दरअसल, पड़ोसी देश इंडोनेशिया के जंगल में लगी आग घुंध से वायु प्रदूषण अस्वस्थ स्तर पर पहुंच गया है। एक अधिकारी ने कहा कि धुंध नियमित रूप से शुष्क मौसम के दौरान दक्षिण पूर्व एशिया के कुछ हिस्सों में बनी रहती है।

उन्होंने बताया कि इंडोनेशिया में पाम तेल के पेड़ों को साफ करने के लिए मैदानों में आग लगाई जाती है, तो यह समस्या बढ़ जाती है। इसकी वजह से पड़ोसी देशों ने इंडोनेशिया से नाराजगी जाहिर की है।

ताजा मामले में मलेशिया के पूर्वी राज्य बोर्नियो द्वीप के कुछ हिस्सों में पिछले कुछ दिनों से धुंध बनी हुई है। पर्यावरण मंत्रालय के विशेष कार्य अधिकारी गैरी थेइरा ने कहा कि कुछ स्थानों पर प्रदूषक सूचकांक बता रहा है कि यह बहुत ही खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। करीब पांच लाख की आबादी वाले कुचिंग में स्थिति बेहद गंभीर है।

उन्होंने बताया कि मलेशिया धुंध को कम करने की कोशिश में बारिश के लिए क्लाउड सीडिंग करने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि जिस समय बादल की स्थिति ठीक होगी, तब केमिलकल के साथ विमान उतारे जाएंगे और क्लाउड सीडिंग कराई जाएगी।

कुछ देश लंबे समय तक सूखे की स्थिति को खत्म करने के लिए और बारिश को प्रेरित करने के लिए क्लाउड सीडिंग का सहारा लेते हैं।