इस्लामाबाद। पुलिस, अर्धसैनिक रेंजर और अन्य कानून प्रवर्तन एजेंसियों ने शनिवार को कराची प्रेस क्लब से सिंध में लागू गायब होने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे छात्रों सहित कई पुरुषों और महिलाओं को गिरफ्तार किया। सूत्रों के अनुसार, पीड़ितों के परिवार के सदस्यों सहित भीड़ कराची प्रेस क्लब में अवैध गिरफ्तारी और अपने प्रियजनों के जबरन गायब किए जाने के खिलाफ शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन करने के लिए एकत्र हुए थे।

जब प्रदर्शनकारियों ने लोगों के जबरन गायब होने के खिलाफ नारे लगाने शुरू किए, तो बड़ी संख्या में पुलिस, पैरामिलिट्री रेंजर्स, और सादी वर्दी में तैनात खुफिया एजेंसियों के कर्मचारियों ने शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर हमला किया। उन्होंने बुजुर्ग पुरुषों, महिलाओं, युवा लड़कियों और छात्रों पर लाठी चार्ज किया और उन्हें प्रताड़ित किया।

बताया जा रहा है कि पुलिसिया कार्रवाई में कई लोग घायल हो गए हैं। वहीं, सुरक्षा बलों ने लड़कियों तक को नहीं छोड़ा। उन्हें बंधक बना लिया और उन्हें पुलिस के मोबाइल वाहनों में जबरन मार-पीट कर बैठाया गया। इसके बाद उन्हें एक अज्ञात स्थान पर भेज दिया गया। यह पता चला है कि पिछले दो हफ्तों से, MQM से संबंधित 200 से अधिक सिंधियों और महाजिरों और जिये सिंध के विभिन्न समूहों के लोगों को पैरामिलिट्री रेंजर्स और अन्य कानून प्रवर्तन एजेंसियों द्वारा कराची, हैदराबाद और सिंध के अन्य शहरों में अवैध रूप से गिरफ्तार किया गया है।

सूत्रों के मुताबिक, किसी भी गिरफ्तार व्यक्ति को अदालत में पेश नहीं किया गया। इसके विरोध में जब उनके प्रियजनों ने अवाज उठाई, तो पाकिस्तानी पुलिस ने उल्टा उन्हीं के खिलाफ बर्बर कार्रवाई की।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना