वाशिंगटन। अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने भारत के साथ अपने देश के संबंधों को बेहद अहम करार देते हुए कहा है कि उनका आगामी दौरा भारत के साथ अमेरिका के महत्वपूर्ण संबंधों को और प्रगाढ़ करने पर केंद्रित होगा। यह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की उस खास रणनीति का हिस्सा है जिसके अंतर्गत हिंद-प्रशांत क्षेत्र में स्वतंत्र आवाजाही के साझा लक्ष्य को मजबूत करना है। इस क्षेत्र में चीन अपना प्रभाव बढ़ाने में लगातार जुटा हुआ है।

पोंपियो के भारत दौरे के बाद पीएम नरेंद्र मोदी और ट्रंप की जापान के ओसाका में 28-29 जून को होने वाले जी-20 शिखर सम्मेलन से इतर मुलाकात होगी। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता मोर्गन ऑर्टगस ने सोमवार को यहां बताया कि पोंपियो 24 जून को नई दिल्ली रवाना होंगे। जबकि पोंपियो ने कहा कि मैं अपने दौरे की तैयारी के लिए भारतीय कारोबारियों के एक समूह के साथ बातचीत करूंगा।

हिद-प्रशांत क्षेत्र में राष्ट्रपति ट्रंप की खास रणनीति के तहत मैं भारत का दौरा करने जा रहा हूं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के अनुसार, पोंपियो 24 से 30 जून तक हिद-प्रशांत क्षेत्र के दौरे पर रहेंगे। वह सबसे पहले नई दिल्ली पहुंचेंगे और फिर श्रीलंका जाएंगे। इसके बाद जापान की यात्रा करेंगे। जापान में जी-20 शिखर सम्मेलन में शिरकत करने के बाद वह ट्रंप के साथ दक्षिण कोरिया जाएंगे।

Posted By: Yogendra Sharma