Covid-19 के खिलाफ Moderna इंक के वैक्सीन कैंडिडेट ने एक परीक्षण में वायरस के खिलाफ रक्षा की, जिसमें 16 बंदरों को संक्रमित किया गया था। यह महामारी के खिलाफ मनुष्यों की रक्षा के लिए एक उत्साहजनक कदम है। न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में मंगलवार को प्रकाशित निष्कर्षों में मॉडर्न ने कहा कि वैक्सीन के दो इंजेक्शन वायरस के दो अलग-अलग डोज पर भारी जोखिम से सुरक्षित हैं। प्राइमेट्स ने इस इंजेक्शन के लगने के बाद बीमारी के बढ़ने का कोई संकेत नहीं दिखाया है। यह एक समस्या है, जो कभी-कभी टीकों से जुड़ी होती है।

नतीजा यह है कि अगर यह बीमारी मनुष्यों को अपनी गिरफ्त में लेती है, तो सुझाव है कि टीका ऊपरी और निचले दोनों वायुमार्गों को covid-19 से बचाने में सक्षम हो सकता है। अध्ययन के परिणामों के अनुसार, वायरस के साथ संक्रमित होने के दो दिन बाद भी सभी बंदरों में, जिन्हें वैक्सीन की उच्च खुराक मिली थी, उनकी नाक में वायरल की कोई प्रतिकृति नहीं थी।

वायरस से संक्रमित होने के बाद दोनों खुराक समूहों में 8 में से 7 जानवरों के फेफड़ों के तरल पदार्थ में कोई वायरल प्रतिकृति नहीं देखी गई। सभी 16 बंदरों ने कम से कम कुछ सुरक्षा का संकेत दिया। दोनों समूहों के बंदरों के फेफड़ों में सीमित मात्रा में सूजन थी। अमेरिकी सरकार वैक्सीन के विकास में मदद करने के लिए 955 मिलियन डॉलर की राशि दे रही है।

हालांकि, यह डेटा उत्साहजनक है और एक बड़ा परीक्षण चल रहा है, जिसमें 30,000 मानवों पर इसका परीक्षण किया जाना शामिल हैं। वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभावकारिता निर्धारित करने के लिए तीसरे चरण के परीक्षण का डेटा नवंबर या दिसंबर में मिलना शुरू होगा।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

  • Font Size
  • Close