वॉशिंगटन। अंतरिक्ष में करीब 50 साल के इतिहास में पहली बार सिर्फ महिला अंतरिक्ष-यात्रियों की चहल कदमी के लिए नासा ने तैयारी कर ली है। क्रिस्टीना कोच और जैसिका मीर सोमवार की जगह गुरुवार या शुक्रवार को चहल-कदमी करेंगी। दरअसल, अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन में पावर सिस्टम की खराबी के लिए स्पेस स्टेशन से निकलना है। नासा के अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि सप्ताहांत में बैट्री चार्जर खराब हो गया था, जिसे बदलने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि ये महिला अंतरिक्षयात्री नई बैट्री को लगाने की जगह टूटे हुए हिस्सों को बदलेंगी, जो उनका मूल काम है।

पिछले हफ्ते अंतरिक्षयात्रियों ने पांच में से पहली दो स्पेस-वॉक की थी, ताकि स्टेशन के सोलर पावर नेटवर्क की पुरानी बैट्री को बदला जा सके। बाकी बची हुई स्पेस-वॉक को इस हफ्ते के लिए तय किया गआ था और अगली चहल-कदमी को अगले कुछ हफ्तों के लिए लंबित कर दिया गया है, ताकि इंजीनियर्स यह पता लगा सकें कि बैट्री चार्जर क्यों फेल हो गया था। इस तरह की यह दूसरी खराबी थी।

यह डिवाइस हर बैट्री में आने-जाने वाले चार्ज को नियंत्रित करती है। इनमें से एक शुक्रवार को काम नहीं कर रही थी, जिसकी वजह से नई लगाई गई लीथियम-आयन की तीन बैट्रियों को काम करने से रोक दिया था। बाल्की चार्जर 19 साल पुराना है। स्पेस स्टेशन के मैनेजर कैनी टोड ने कहा कि यह निश्चित रूप से चिंता का विषय है क्योंकि हम नहीं जानते हैं कि वहां क्या हो रहा है। हम अभी भी डाटा को देखकर सिर खुजला रहे हैं। उम्मीद है कि हम उसे जल्दी ठीक कर सकेंगे।

नासा के अनुसार, बिजली में आई थोड़ी कमी के बावजूद, ऑर्बिटिंग लैब और उसमें रहने वाले छह अंतरिक्षयात्री पूरी तरह से सुरक्षित हैं और वैज्ञानिक कार्य बी अप्रभावित हैं। मौदूजा स्थित को नियंत्रित किया जा सकता है। बताते चलें कि गर्मियों में नासा ने सिर्फ महिलाओं की स्पेस-वॉक करने की योजना बनाई थी, लेकिन मध्यम आकार के सूट तैयार नहीं होने की वजह से उसे अंतिम समय में अपनी योजना को स्थगित करना पड़ा था।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai