न्यूयॉर्क। धूम्रपान से कम हानिकारक उत्पाद के रूप में लंबे समय से प्रचारित ई-सिगरेट पर हाल में उठे सवालों के बाद न्यूयॉर्क ने भी फ्लेवर्ड ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगा दिया है। ऐसा करने वाला यह अमेरिका का दूसरा राज्य बन गया है। इससे पहले मिशिगन इस महीने की शुरुआत में प्रतिबंध की घोषणा करने वाला पहला राज्य बन गया, लेकिन वहां उस कानून को अभी तक लागू नहीं किया गया है।

स्वास्थ्य परिषद ने गवर्नर एंड्रयू कुओमो द्वारा प्रस्तावित आपातकालीन कानून को पारित कर दिया, जिसमें गंभीर फेफड़ों के रोग के प्रकोप से सात लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों लोग बीमार हो गए। प्रतिबंध तत्काल प्रभाव से लागू कर दिया गया है।

गवर्नर क्यूमोमो ने कहा कि यह निर्विवादित है कि वापिंग कंपनियां जानबूझकर ई-सिगरेट की लत लगाने के लिए बबलगम, कैप्टन क्रंच और कॉटन कैंडी जैसे स्वादों का उपयोग कर रही हैं। यह एक सार्वजनिक स्वास्थ्य संकट है और यह आज समाप्त हो गया है। न्यूयॉर्क में दुकानों से ई-सिगरेट को हटाने के लिए अब दो सप्ताह का समय दिया गया है। प्रतिबंध में मेन्थॉल या तंबाकू- फ्लेवर वाली ई-सिगरेट को शामिल नहीं किया गया है।

बताते चलें कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन ने पिछले हफ्ते घोषणा की कि वह जल्द ही ई-सिगरेट उत्पादों पर प्रतिबंध लगा देगा, ताकि युवा उपयोगकर्ताओं को इसकी बढ़ती लत से रोका जा सके। ट्रंप ने बीते दिनों कहा था कि ई-सिगरेट की लत बच्चों में नई समस्या बनकर उभरी है।

ई-सिगरेट से अब तक अमेरिका में छह लोगों की मौत हो चुकी है और 450 लोग फेफड़े की बीमारी से पीड़ित हैं। अमेरिका में ई-सिगरेट मैंगो, क्रीम, मिंट, मेंथॉल, कैंडी, फ्रूट और एल्कोहल फ्लेवर में आसानी से उपलब्ध हैं, जिससे बच्चों को इन चीजों की लत लग जा रही है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस