लंदन। पंजाब नेशनल बैंक में दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी और मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में मुख्‍य आरोपी और भगोड़ा घोषित हो चुके हीरा कारोबारी नीरव मोदी को ब्रिटेन की कोर्ट ने बुधवार को एक बार फिर झटका दे दिया है। उसने पांचवीं बार जमानत के बदले में 40 लाख पाउंड का निजी मुचलका भरने और संदिग्ध आतंकवादियों की तरह ही निगरानी में रखे जाने की पेशकश की थी। उसे वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट की अदालत में न्यायाधीश एम्मा अर्बथनॉट के सामने पेश किया गया था।

कोर्ट में सुनवाई के दौरान नीरव मोदी ने एक बार फिर अपना आपा खो दिया और धमकी देते हुए कहा कि अगर उसे भारत प्रत्यर्पित किया गया, तो वह आत्महत्या कर लेगा। नीरव मोदी ने बताया कि उसे जेल में तीन बार पीटा गया है। हालांकि, उसकी इन दलीलों का कोर्ट में कोई असर देखने को नहीं मिला और उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी गई। सफेद शर्ट और नीला स्वेटर पहने मोदी को वापस वैंड्सवर्थ जेल में ले जाया गया। अब 4 दिसंबर को इसी कोर्ट में विडियो लिंक के जरिये उसकी अगली पेशी होगी।

न्यायाधीश एम्मा अर्बथनॉट ने कहा कि अतीत में हुई घटनाओं से अंदाजा लगाया जा सकता है कि भविष्य में क्या हो सकता है। उन्होंने कहा कि वह अब भी नहीं मानती हैं कि मोदी सबूतों से छेड़छाड़ नहीं करेगा और मई 2020 में मुकदमे के दौरान अदालत के सामने आत्मसमर्पण कर देगा। न्यायाधीश ने कहा कि नीरव ने खुद माना है कि वह अवसाद में है और यह ऐसी वजह नहीं है कि वह जमानत से इंकार के पुराने आदेश को बदल दें।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai