कनाडा के 80 प्रतिशत से अधिक लोगों की राय है कि वे एशियाई राष्ट्र चीन में निर्मित वस्तुओं के बहिष्कार करेंगे। एजेंसी एंगस रीड इंस्टीट्यूट या एआरआई के एक नए सर्वेक्षण के अनुसार, सर्वे में शामिल लोगों में से 81 प्रतिशत ने "महसूस किया कि उन्हें एक कड़ा संदेश भेजने के लिए चीन में बने सामानों का बहिष्कार करना चाहिए। हालांकि, इंस्टीट्यूट ने कहा कि कनाडा के लोगों द्वारा खरीदे गए चीन में निर्मित सामानों की भारी मात्रा के कारण, यह एक चुनौती हो सकती है।

कनाडा के 90 प्रतिशत से अधिक लोगों का मानना ​​है कि "दोनों देशों के बीच तनाव 'गंभीर है।" चीन के साथ बढ़ती असहमति के रूप में दो कनाडाई नागरिकों को जासूसी के आरोप में चीन ने कैद कर लिया है, जिसमें एक पूर्व राजनयिक शामिल हैं। कनाडाई सरकार ने इसे "मनमानी गिरफ्तारी" के रूप में वर्णित किया है और चीन पर आरोप लगाया कि चीनी दूरसंचार कंपनी Huawei के CFO मेंग वेन्झोऊ की रिहाई के लिए यह किया था। दरअसल, दिसंबर 2018 में वैंकूवर में मेंग को गिरफ्तार किया गया था और ईरानी शासन के खिलाफ प्रतिबंधों को दरकिनार करने के लिए एक बैंक को कथित रूप से धोखा देने से संबंधित मामले में उन पर कनाडा में केस चल रहा है।

कनाडाई प्रधान मंत्री जस्टिन ट्रूडो ने इस तरह के आदान-प्रदान के विचार को पहले ही खारिज कर दिया है। ट्रूडो के रुख को मतदान में समर्थन मिला है क्योंकि एआरआई ने कहा कि अधिकांश कनाडाई मेंग वेन्झोऊ के खिलाफ मामला दर्ज करने के लिए "संघीय सरकार की स्थिति के समर्थक" हैं, जिसे संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रत्यर्पित किया जा सकता है। लगभग तीन-चौथाई उत्तरदाताओं ने ट्रूडो के रुख का समर्थन किया।

यह भावना सभी उम्र के नागरियों, सभी महिलाओं और पुरुषों के साथ ही सभी दलों के नेताओं में एक समान रूप से मौजूद है। कनाडा के 91 प्रतिशत लोगों ने माना कि दोनों देशों के बीच मामलों की स्थिति "गंभीर" है, जबकि 93 प्रतिशत लोगों ने महसूस किया कि मानवाधिकारों के मामलों में चीन पर भरोसा नहीं किया जा सकता।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना