इस्लामाबाद। पाकिस्तान सरकार ने जज अरशद मलिक को बर्खास्त कर दिया है। अरशद मलिक ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को अल-अजीजिया स्टील मिल भ्रष्टाचार मामले में सजा सुनाई थी। हाल ही में शरीफ की बेटी मरयम ने एक वीडियो जारी किया था जिसमें मलिक ने कथित तौर पर ब्लैकमेल के चलते शरीफ को सजा सुनाने की बात स्वीकारी थी। मलिक ने हालांकि इस वीडियो को फर्जी बताया है। लेकिन इस वीडियो को लेकर जवाबदेही न्यायालय के जज की निष्पक्षता पर सवाल उठाए जा रहे थे।

इस विवाद के चलते इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने कानून मंत्रालय को मलिक को हटाने का आदेश दिया था। कानून मंत्री फारोघ नसीम ने शुक्रवार को कहा कि कथित वीडियो और प्रेस विज्ञप्ति के आधार पर जज अरशद मलिक को बर्खास्त कर दिया गया है। मलिक की बर्खास्तगी से फिर से नवाज शरीफ को रिहा करने की मांग की जा रही है। पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज के प्रवक्ता ने मांग की है कि नवाज को सुनाई गई सजा खारिज होनी चाहिए और उन्हें तुरंत जेल से रिहा किया जाना चाहिए। शरीफ के परिवार के साथ उनकी पार्टी भी उन पर चलाए गए मुकदमों को राजनीति से प्रेरित बताती रही है।