नई दिल्ली। Kartarpur Corridor के उद्घाटन के मौके पर शामिल होने के लिए पाकिस्तान ने आध्यात्मिक गुरु श्रीश्री रविशंकर को न्योता दिया है। गुरु नानक देव की 550वीं जयंती के मौके पर पाकिस्तान इस गलियारे को खोलने के लिए तैयार हुआ है। कॉरिडोर को आधिकारिक रूप से 9 नवंबर को खोला जाएगा। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने घोषणा की है कि इस दिन किसी भी सिख तीर्थयात्री से 20 डॉलर का शुल्क नहीं लिया जाएगा। इसके साथ ही गुरुनानक की जयंती यानी 12 नवंबर को भी गलियारे से आने वाले तीर्थयात्रियों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा।

समाचार एजेंसी एएनआइ ने इस खबर की जानकारी दी है। उधर, सिखों की मांग है कि पाकिस्तान सरकार हमेशा के लिए 20 डॉलर के शुल्क को माफ कर दे। बताते चलें कि ननकाना साहिब सिखों के लिए काफी अहमियत रखता है क्योंकि नानकदेव ने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष यहीं बिताए थे। अभी तक इस पवित्र स्थल को दूर से बाइनोक्यूलर के जरिये देखना पड़ता था।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai