कोलकाता की एक विवाहित महिला, सिख जत्थे के साथ गुरु नानक देवजी की जयंती मनाने के लिए पाकिस्तान गई थीं। जहां उन्होंने इस्लाम धर्म अपना लिया और लाहौर में एक व्यक्ति से निकाह कर लिया। हालांकि इस्लाम धर्म अपनाने और मोहम्मद इमरान से शादी करने के बावजूद महिला रंजीत कौर (बदला हुआ नाम) पाकिस्तान में नहीं रह सकीं। उन्हें 26 नवंबर को भारत वापस भेज दिया गया। दिलचस्प बात यह है कि रंजीत, उनके पति परमदीप सिंह (बदला हुआ नाम) और मोहम्मद इमरान बहरे और गूंगे हैं।

एक अंग्रेजी वेबसाइट में छपी खबर के अनुसार रंजीत कौर सोशल मीडिया पर मोहम्मद इमरान के संपर्क में थीं। उनके पति को भी इसकी जानकारी थीं। पाकिस्तान में उन्होंने जस्टिस ऑफ पीस के कार्यालय में एक याचिका दायर की। वह पति के सामने इमरान से शादी की। रिपोर्ट के अनुसार महिला ने अपना नाम बदलकर परवीन सुल्ताना रख लिया है। मोहम्मद इमरान पाकिस्तान के राजनपुर के रहने वाले हैं।

23 नवंबर को रंजीत कौर और इमरान ने लाहौर में निकाह किया। तब महिला ने पाकिस्तानी अदालत में अपने भारतीय पति से तलाक ले लिया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान अधिकारियों ने महिला को लाहौर में रहने की अनुमति नहीं दी, क्योंकि वह एक तीर्थयात्रा पर थीं। जिसकी अवधि भी खत्म हो गई थी। अब वह अपने भारतीय पति के साथ वापस आ गई है। फिर से पाकिस्तान वीजा के लिए आवेदन कर सकती है।

इस घटना पर प्रतिक्रिया देते हुए, शिअद (डी) के अध्यक्ष परमजीत सिंह सरना ने कहा कि यह मामला बेहद शर्मनाक है। इसने एक विवाद को जन्म दिया है। इस तरह के कृत्यों से पाकिस्तान में सिख तीर्थयात्रा पर भी प्रतिबंध लग सकता है।

Posted By: Navodit Saktawat