लाहौर। भारत द्वारा संविधान का अनुच्छेद 370 समाप्त किए जाने के बाद कश्मीर में जहां एक नई शुरुआत हो रही है वहीं पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और किसी भी तरह हाथ पैर मारकर नौटंकी कर रहा है। ताजा घटनाक्रम में उसने दिखावा करने के लिए अपने पंजाब प्रांत में 36 सड़कों और पांच बड़े पार्कों का नाम कश्मीर रखने का फैसला लिया है। पाकिस्तानी पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

भारत ने पांच अगस्त को संविधान का अनुच्छेद 370 समाप्त कर दिया और जम्मू एवं कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने का फैसला लिया। इस कदम से पाकिस्तान बौखला गया है।

बुजदार ने कहा, "पंजाब सरकार ने 36 सड़कों (प्रांत के हर जिले में एक) और पांच बड़े पार्कों का नाम कश्मीर रखने का फैसला लिया है। कश्मीर के लोगों के साथ एकजुटता प्रदर्शित करने के लिए सड़क का नाम कश्मीर रोड और पार्क का नाम कश्मीर पार्क होगा।"

बुधवार को पाकिस्तान ने अपना स्वतंत्रता दिवस कश्मीर एकजुटता दिवस और गुरुवार को भारतीय स्वतंत्रता दिवस को काला दिवस के रूप में मनाया। उसका मित्र चीन भी इस मुद्दे पर साथ दे रहा है। भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय समुदाय से कहा है कि जम्मू-कश्मीर उसका घरेलू मामला है। पाकिस्तान से भारत ने यह फैसला स्वीकार करने को कहा है।

भारतीय फिल्मों की सीडी की बिक्री रोकने में जुटा पाक

पाकिस्तान सरकार भारतीय फिल्मों की सीडी की बिक्री के खिलाफ कदम उठा रही है। अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान ने कई कदम उठाए हैं। पाकिस्तान इलेक्ट्रानिक मीडिया नियामक प्राधिकार भारतीय कलाकारों वाले विज्ञापन और भारत में बने उत्पाद दिखाने पर प्रतिबंध लगा चुका है।

गुलाम कश्मीर के आतंकी समूहों ने भारत विरोधी प्रदर्शन शुरू किया

गुलाम कश्मीर के मुजफ्फराबाद से जारी एक वीडियो में आतंकी समूहों को भारत के खिलाफ जिहाद शुरू करने के लिए एकजुट होते दिखाया गया है। पाकिस्तान के अधिकारी अब हिजबुल मुजाहिदीन और सैयद सलाहुदीन की अगुआई वाले यूनाइटेड जिहाद काउंसिल को प्रोत्साहित कर रहे हैं। गुरुवार को मुजफ्फराबाद में प्रेस क्लब के बाहर हिजबुल के खालिद सैफुल्ला और नैब आमिर भारत विरोधी प्रदर्शन में शामिल हुए थे। उन्होंने भारत के खिलाफ जिहाद शुरू करने का आह्वान किया था।

Posted By: Ajay Barve