इस्लामाबाद। भारत द्वारा कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा वापस लेने के बाद पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। सारे पैतरे आजमाने के बाद जब पाक नाकाम रहा तो उसने भारत के साथ द्विपक्षीय संबंध खत्म कर दिए हैं। इस बीच पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा है कि भारत अगर जम्मू-कश्मीर का अपना फैसला पलटता है, पाबंदियां हटाता है और सैनिकों को वापस भेजता है तभी उससे बातचीत की जाएगी।

इमरान खान ने गुरुवार को "द न्यूयॉर्क टाइम्स" में प्रकाशित अपने लेख में एक बार फिर चेतावनी दी है कि अगर दुनिया के अन्य देश कश्मीर पर भारत के फैसले को नहीं रोकते हैं तो परमाणु संपन्न दोनों देशों युद्ध के मुहाने पर पहुंच जाएंगे।

इमरान खान ने कहा है कि कश्मीर पर सभी पक्षों विशेषकर कश्मीरियों को बातचीत में शामिल किया जाना चाहिए। लेकिन बातचीत तभी होगी जब भारत कश्मीर पर अपने फैसले को पलटता है।

इमरान ने कहा है कि जब वह देश के प्रधानमंत्री बने थे, तब उनकी शीर्ष प्राथमिकता दक्षिण एशिया में दीर्घकालिक शांति स्थापना के लिए काम करने की थी। लेकिन शांति बहाली के लिए बातचीत की उनकी पहल को भारत ने सिरे से खारिज कर दिया।

भारत सरकार ने 5 अगस्त को संसद में संकल्प पत्र लाकर कश्मीर को दिया जाने वाला विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया था। इसके बाद से ही दोनों देशों में तल्खी बढ़ी हुई है।

Posted By: Neeraj Vyas

fantasy cricket
fantasy cricket