संयुक्त राष्ट्र। भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक और कश्मीर मुद्दा उठाने को उकसाने वाली कार्रवाई और समय की बर्बादी करार दिया है। भारत ने कहा है कि इस तरह की घटनाएं हम सबको पीछे ले जाती हैं।

संयुक्त राष्ट्र में भारत की पहली सचिव एनम गंभीर ने मंगलवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी की भारत के बारे में की गई बातें 'नक्कारखाने में तूती' के समान हैं।

इस बीच, संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने इस संस्था में सुधार के प्रस्तावों को अपर्याप्त बताया है। महासभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि तेजी से बदल रही दुनिया में चुनौतियों से निपटने के लिए टुकड़ों में सुधार नहीं किया जा सकता।

गंभीर ने कहा कि मेरा प्रतिनिधिमंडल इस सम्मानित सदन का बहुमूल्य समय इस तरह की बातों का जवाब देकर बर्बाद नहीं करना चाहता। उन्होंने अपनी बात महज 45 सेकेंड में निपटा दी।

हालांकि, उन्हें जवाब देने के लिए 10 मिनट का समय मिला था। महासभा में संयुक्त राष्ट्र के कार्यों की वार्षिक रिपोर्ट पर चर्चा के दौरान मलीहा लोधी अपने विषय से भटक गईं।

उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक की बात से इन्कार किया और आरोप लगाया कि भारत इसको लेकर झूठे दावे करके संघर्ष को भड़काने और ज्यादा हमले करने की धमकी देने की कोशिश कर रहा है। उन्होंने कहा कि इस तरह की धमकियां पाकिस्तान को आत्मरक्षा के अधिकार के प्रयोग का पर्याप्त आधार मुहैया कराती हैं।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket