पाकिस्तान में नाबालिग हिंदू लड़की का जबरन धर्मांतरण कर मुस्लिम बनाए जाने और मुस्लिम शख्स से शादी कराने के विरोध में लंदन में रहने वाले पाकिस्तानी मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और भारतीयों द्वारा पाकिस्तान हाईकमीशन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया गया है। इस मामले में भारत ने भी आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की थी। पाकिस्तान के सिंध में रहने वाली अल्पसंख्यक हिंदू महक कुमारी का धर्मांतरण कराने के बाद उसकी मुस्लिम आदमी से शादी कराने का मामला सामने आने के बाद इसके काफी तूल पकड़ा था। प्रदर्शन के दौरान पीड़िता को न्याय दिए जाने की मांग भी की गई।

यह है पूरा मामला

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में रहने वाली 14 साल की महक कुमारी का कुछ दिनों पहले अपहरण कर लिया गया था, वह नौंवी कक्षा की छात्रा थी। उसके बाद उसका जबरन धर्मांतरण कराया गया, इसका एक वीडियो भी जारी किया गया था जिसमें वह अमेरात शरीफ में एक मौलाना के साथ दिखाई दी और वीडियो में दावा किया गया कि महक को एक मुस्लिम युवक अली रजा सोलंगी से प्यार हो गया और उसने धर्म परिवर्तन की इच्छा जताई।

पाकिस्तान में ऐसे कई मामले सामने आए

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पाकिस्तान में सोशल मीडिया पर अल्पसंख्यक हिंदुओं द्वारा फेसबुक पेज बनाया गया है जिसमें जबरन धर्मांतरण कराने की 50 से ज्यादा घटनाओं का जिक्र किया गया है। जारी की गई सूची में पहले नंबर पर कोमल का नाम है जो पाकिस्तान के टैंडो अलियार इलाके की रहने वाली है।

Posted By: Neeraj Vyas