बीजिंग। बैंकों के भाग जाने और कर्जदारों के बीच ऋणों के डूब जाने की आशंकाओं के चलते चीन ने बैंकों से बड़ी राशि की निकासी पर रोक लगा दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पीपुल्स बैंक ऑफ चाइना ने बिना पूर्वानुमति के बड़ी मात्रा में नकदी निकालने वाले व्यवसायों और व्यक्तियों पर सीमाएं पहली बार हुबेई प्रांत में एक पायलट परियोजना के रूप में शुरू की हैं। माना जा रहा है कि इसे अन्य क्षेत्रों में भी विस्तारित किया जा सकता है।

नए प्रतिबंधों के तहत ऋणदाताओं को व्यक्तियों के लिए एक लाख से तीन लाख युआन से ऊपर की निकासी करने पर व्यवसाइयों के लिए पांच लाख युआन की निकासी करने की पर रिपोर्ट करने की जरूरत होगी। बैंकों के भाग जाने का खतरा बढ़ता जा रहा है और पिछले महीने केवल उठाए गए कदमों की वजह से दो बैंकों को भागने से रोक लिया गया था। पिछले साल सरकार ने कई बैंकों को जब्त कर लिया था।

ऐसी रिपोर्ट्स हैं कि कई स्थानीय बैंक ग्राहकों को भुगतान करने में असमर्थ हो रहे हैं क्योंकि बड़ी संख्या में लोग अपनी जमा राशि को निकालने के लिए एकत्र हुए थे। इतना ही नहीं, वे अपने खातों से राशि भी ज्यादा से ज्यादा निकाल रहे हैं। लेन-देन पर अंकुश लगाने के लिए दो साल के पायलट कार्यक्रम का विस्तार इस साल अक्टूबर में झेजियांग और शेनझेन प्रांत में किया जाएगा, जिसमें तीन प्रांतों के सात करोड़ लोग शामिल होंगे।

ऐसी खबरें हैं कि खाताधारकों की भीड़ नकदी निकालने के लिए बड़ी संख्या में बैंकों पर पहुंच रही है। हुबेई प्रांत के बाओडिंग शहर में स्थिति बाओडिंग बैंक ने कहा कि लोगों को अफवाहों पर न तो विश्वास नहीं करना चाहिए और न ही फैलाना चाहिए।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस