दुबई। ईरान के रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने उस व्यक्ति को हिरासत में ले लिया, जिसने पिछले हफ्ते ईरान में एक यूक्रेनियन एयरलाइनर पर हमला करने वाली मिसाइल का वीडियो ऑनलाइन पोस्ट किया था। अर्ध-सरकारी फार्स समाचार एजेंसी ने मंगलवार को यह सूचना दी। हालांकि, एजेंसी ने इसके बारे में अधिक जानकारी नहीं दी है, लेकिन यह बताया गया है कि जांच के नतीजे जनता के सामने पेश किए जाएंगे। रिवॉल्यूशनरी गार्ड्स ने मिसाइल हमले की जिम्मेदारी ली है, जिसके कारण विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया और उसमें सवार सभी 176 लोगों की मौत हो गई थी।

ईरान ने शुरू में विमान पर मिसाइल हमले की बात को सिरे से खारिज कर दिया था। उसने कहा था कि विमान में तकनीकी खामी आ गई थी, जिसकी वजह से वह दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसके साथ ही विमान का ब्लैक-बॉक्स देने से भी इनकार कर दिया था। मगर, बाद में बढ़ते दबाव के बाद ईरान की एलीट फोर्स रिवोल्यूशनरी गार्ड्स ने माना कि विमान पर मिसाइल हमला किया गया था, जिसकी वजह से वह गिर गया था।

दरअसल, अमेरिकी ड्रोन हमले में ईरान के सैन्य प्रमुख कासिम सुलेमानी की हत्या के बाद ईरान ने एयर डिफेंस सिस्टम को अलर्ट कर दिया था। इस दौरान प्लेन को देखकर गलती से उसे दुश्मन का विमान समझ लिया गया और मिसाइल से मार गिराया गया था। इस सिलसिले में ईरान में कुछ लोगों की गिरफ्तारी हुई है, लेकिन अभी तक उनके नाम के बारे में या कितने लोगों को गिरफ्तार किया गया है, उसके बारे में कोई खुलासा नहीं किया गया है।

बताते चलें कि ईरान के राष्ट्रपति हसन रुहानी ने विमान हादसे की जांच के लिए स्पेशल कोर्ट गठित करने की बात कही थी। इस विमान के मार गिराए जाने के बाद से ही तेहरान में जगह-जगह सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अल-खमनेई के इस्तीफे की मांग उठ रही थी। ईरानी राज्य के मीडिया ने न्यायपालिका के प्रवक्ता घोलमहोसैन एसमेली के हवाले से कहा कि मामले की व्यापक जांच हुई है और कुछ व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है।

Posted By:

fantasy cricket
fantasy cricket