बीजिंग। चीन में कोरोना वायरस की वजह से अब तक करीब 1400 लोगों की मौत हो चुकी है और 43 हजार से ज्यादा लोग संक्रमित हैं। बीमारी का दहशत ऐसी है कि पालतू पशुओं के मालिक अपनी बिल्लियों और कुत्तों को भी फेस मास्क पहनने के लिए मजबूर कर रहे हैं। उन्हें डर है कि इस वायरस की वजह से वे कहीं अपने पालतू को न खो दें। इसके साथ ही डर यह भी है कि कहीं इनकी वजह से उन पर यह वायरस न हमला कर दे। घातक कोरोनावायरस का प्रकोप जारी है और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी इसे खतरनाक बीमारी करार दिया है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि इस बात का कोई सबूत नहीं है कि पालतू जानवरों को वायरस से संक्रमित किया जा सकता है। मगर, फिर भी चीनी नागरिक अपने पालतू जानवरों को फेस मास्क पहनाकर ही घर के बाहर लेकर जा रहे हैं। चीनी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म वेइबो पर तस्वीरें वायरल हो रही हैं, जिनमें जानवरों की सिर्फ आंखें खुली हुई दिख रही हैं।

कई तस्वीरों को ट्विटर पर शेयर किया जा रहा है और वे वायरल हो रही हैं। द सन के अनुसार, चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने पालतू जानवरों और कोरोना वायरस के बारे में डब्ल्यूएचओ के रुख से असहमति जताई है। आयोग के प्रवक्ता और महामारी विज्ञानी ली लंजुआन ने कहा- यदि पालतू जानवर बाहर जाते हैं और एक संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आते हैं, तो उनके संक्रमित होने का जोखिम होता है। तब पालतू जानवरों को अलग करने की जरूरत होती है। लोगों के अलावा हमें अन्य स्तनधारियों खासकर पालतू जानवरों से सावधान रहना चाहिए।

एक्सप्रेस न्यूज ने यह भी बताया कि वर्ल्ड स्मॉल एनिमल वेटरनरी एसोसिएशन ने सभी बिल्ली मालिकों को सलाह दी है कि वे अपने पालतू जानवर को कुछ समय के लिए घर के अंदर रखें। बताते चलें कि इस बीमारी पर अभी तक काबू नहीं पाया जा सका है और कई देशों ने चीन से आने पर प्रतिबंध लगा दिया है, जबकि प्रमुख एयरलाइनों ने देश के लिए और यहां से उड़ानों को रोक दिया है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

fantasy cricket
fantasy cricket