हेग। एम्स्टर्डम के शिफोल हवाई अड्डे पर अचानक अफरा-तफरी का माहौल बन गया। डच पुलिस ने सुरक्षा का बड़ा अभियान शुरू कर दिया और एयरपोर्ट के कुछ हिस्सों को बंद कर दिया गया था। दरअसल, एक प्लेन से विमान की हाईजैकिंग की स्थिति में बजाया जाने वाला अलार्म को दबाए जाने के बाद सुरक्षा अधिकारी हरकत में आ गए थे। हालांकि, बाद में पता चला कि पायलट ने गलती से बुधवार को अलार्म दबा दिया।

स्पैनिश एयरलाइन एयर यूरोपा ने डच राजधानी मैड्रिड से उड़ान भरने वाली फ्लाइट में हुई इस घटना पर माफी मांगी है। अलार्म के बजने के तुरंत बाद विमान को आपातकालीन वाहनों ने चारों तरफ से घेर लिया था। एयरलाइन ने ट्वीट में लिखा कि यह गलत अलार्म था। एम्सटर्डम-मैड्रिड की उड़ान में आज दोपहर को गलती से यह सक्रिय हो गया था।

इसकी वजह से हाईजैकिंग की स्थिति में अपनाए जाने वाले प्रोटोकॉल को अधिकारियों ने तुरंत शुरू कर दिया। एयरलाइन ने कहा कि कुछ नहीं हुआ है, सभी यात्री सुरक्षित हैं और जल्द ही उड़ान भरने की प्रतीक्षा कर रहे हैं। हम इस घटना के लिए दिल से माफी मांगते हैं।

डच रॉयल मिलिट्री पुलिस ने पहले कहा था कि वे एक संदिग्ध स्थिति की जांच कर रहे थे। मगर, एक घंटे बाद घोषणा की कि यात्रियों और चालक दल विमान के साथ सुरक्षित रूप से रवाना हो गए। डच मीडिया ने कहा कि विमान में 27 यात्री सवार थे।

घटनास्थल से मिली तस्वीरों में देखा जा सकता है कि पुलिस की गाड़ियों और एंबुलेंस ने विमान के चारों ओर से घेर लिया था। वहीं, हवाई अड्डे के कुछ हिस्सों इस अलार्म के बजने के बाद सुरक्षा अधिकारियों ने अपने घेरे में लेकर बंद कर दिया गया। शिफोल यूरोप के सबसे व्यस्त हवाई अड्डों में से एक है, जहां हर साल करीब सात करोड़ यात्री आते-जाते हैं।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai