प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जापान के ओसाका पहुंचे। वह यहां जी-20 शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे। ओसाका में 27 से 29 जून, 2019 तक समूह-20 देशों की बैठक होने वाली है। ओसाका पहुंचने के बाद पीएम मोदी ने सबसे पहले जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मुलाकात की। इस दौरान दोनों नेताओं ने मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेलवे के डेवलपमेंट पर भी चर्चा की।

शिंजो आबे ने चुनावों में भारी जीत के लिए एक बार फिर पीएम मोदी को बधाई दी। उन्होंने कहा कि अब भारत आने की मेरी बारी है और मैं अपनी इस यात्रा को लेकर बेहद उत्साहित हूं और इसका बेसब्री से इंतजार कर रहा हूं। पीएम मोदी ने भी जापान के पीएम शिंजो एबी को बधाई देने के लिए धन्यवाद दिया।

मोदी ने कहा कि आप भारत के पहले मित्र थे जिन्होंने मुझे जीत के बाद फोन पर बधाई दी। मैं इतनी गर्मजोशी से स्वागत के लिए आपका और जापान सरकार का आभार व्यक्त करता हूं। पीएम मोदी यहां अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से भी मुलाकात करेंगे।

बुधवार देर शाम मोदी इस बैठक में हिस्सा लेने के लिए रवाना हो गए थे। मोदी से मुलाकात का आग्रह लगभग सभी देशों से आया था।

लेकिन अभी तक विदेश मंत्रालय ने 8 देशों के प्रमुखों के साथ PM की द्विपक्षीय आधिकारिक मुलाकात का समय तय किया है। 8 द्विपक्षीय मुलाकातों के अलावा मोदी वहां तीन बहुपक्षीय मुलाकातों में हिस्सा लेंगे।

जी-20 बैठक का आयोजन 2007-08 के वैश्विक मंदी के बाद अमेरिका के आग्रह पर आरंभ किया गया था ताकि वैश्विक आर्थिक मुद्दों पर एक समग्र नीति बनाई जा सके। विदेश मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि पीएम मोदी जापान के पीएम शिंजो अबे, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ त्रिपक्षीय बैठक करेंगे।

इसके अलावा चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के साथ भी उनकी त्रिपक्षीय बैठक होगी। ब्रिक्स देशों के राष्ट्र प्रमुखों की बैठक भी होनी तय है।

इन तीन बहुपक्षीय बैठक के अलावा पीएम मोदी की आस्ट्रेलिया के पीएम स्काट मॉरीसन, जर्मनी की चांसलर एंजेला मार्केल, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों, तुर्की के राष्ट्रपति तैयीप एर्डोगन, रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, सउदी अरब के प्रिंस सलमान समेत आठ नेताओं के साथ द्विपक्षीय

मुलाकात भी तय है। अन्य देशों का आग्र्रह भी है लेकिन समयाभाव की वजह से सभी को स्वीकार करना संभव नहीं हो पा रहा है। अन्य नेताओं के साथ अनौपचारिक मुलाकात होगी।

Posted By: Navodit Saktawat