2nd India-Nordic Summit: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में शामिल हुए। इस शिखर सम्मेलन के दौरान, महामारी के बाद आर्थिक सुधार, जलवायु परिवर्तन, सतत विकास, नवाचार, डिजिटलीकरण और हरित और स्वच्छ विकास में बहुपक्षीय सहयोग पर चर्चा हुई। विदेश मंत्रालय (MEA) ने बताया कि उभरती प्रौद्योगिकियों, निवेश, स्वच्छ ऊर्जा, आर्कटिक अनुसंधान जैसे क्षेत्रों में नॉर्डिक क्षेत्र के साथ हमारे बहुआयामी सहयोग को बढ़ावा देना, इस शिखर सम्मेलन का अहम लक्ष्य है। इस सम्मेलन में डेनमार्क, फिनलैंड, आइसलैंड, नॉर्वे और स्वीडन के नेता एक मंच पर दिखे। इससे पहले स्टॉकहोम में साल 2018 में भारत और नॉर्डिक देश, पहले शिखर सम्मेलन के जरिए एक मंच पर साथ आए थे।

इस शिखर सम्मेलन के बाद पीएम मोदी ने इसे बड़ी सफल बताते हुए कहा कि ये नॉर्डिक देशों के साथ सहयोग बढ़ाने का शानदार प्लेटफॉर्म है। भारत इन देशों के साथ आपसी संबंधों और समृद्धि को बढ़ाने के लिए प्रयत्न करता रहेगा।

शिखर सम्मेलन के बाद पीएम मोदी फ्रांस के लिए निकल गये। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का तीन दिवसीय यूरोप दौरा आज खत्म होने वाला है। वह दौरे के आखिरी दिन कुछ घंटों के लिए फ्रांस में मौजूद रहेंगे और फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों के साथ बात करेंगे।

Posted By: Shailendra Kumar