लंदन। बंद हो चुके ब्रिटिश अखबार न्‍यूज ऑफ द वर्ल्‍ड के पूर्व रॉयल एडिटर ने दावा किया है कि उनके पास जो शाही परिवार के सदस्‍यों के टेलीफोन नंबर्स वाली डायरेक्‍ट्री थी, वह उन्‍हें लेडी डायना से मिली थी। उन्‍होंने कहा कि प्रिंस चार्ल्‍स से अलगाव के दिनों में तत्‍कालीन प्रिंसेस डायना द्वारा उन्‍हें नंबर्स की डायरेक्‍ट्री उपलब्‍ध कराई गई थी।

गौरतलब है कि पूर्व रॉयल एडिटर क्‍लाइव गुडमैन रूपर्ट मर्डोक की मीडिया कंपनी द्वारा प्रकाशित किए जाने वाले अखबार के संपादक थे। एक विवाद के चलते 2011 में कंपनी ने इस अखबार को बंद कर दिया है।

वहीं गुडमैंन को भी 2007 में जेल की हवा खानी पड़ी थी। उन पर आरोप था कि उन्‍होंने ब्रिटेन के शाही परिवार के सदस्‍यों के मोबाइल नंबर और वॉयस मेल हासिल करने के लिए पुलिस अधिकारियों को रिश्‍वत दी थी।

2006 में गुडमैन के घर की तलाशी के दौरान पुलिस को 15 डायरेक्‍ट्री मिली थीं, जिनमें शाही परिवार के सदस्‍यों के निजी और गोपनीय टेलीफोन और मोबाइल नंबर दर्ज थे। ब्रिटेन में उक्‍त डायरेक्‍ट्री को ग्रीन बुक के नाम से जाना जाता है, जिसके बारे में गिने चुने लोगों को ही जानकारी होती है।

इसी मामले की सुनवाई के दौरान गुडमैन ने अदालत में कहा कि उन्‍हें यह डायरेक्‍ट्री लेडी डायना ने उपलब्‍ध कराई थी। उन्‍होंने कहा कि डायना अपने पति प्रिंस चार्ल्‍स से अलगाव नहीं चाहती थीं, इसलिए उन्‍होंने यह डायरेक्‍ट्री उन्‍हे दी थी। वो चाहती थीं कि किसी भी तरह से उनका रिश्‍ता बचा रहे, इसीलिए उन्‍होंने यह डायरेक्‍ट्री लीक की थी। उन्‍होंने यह भी बताया कि डायना की दोस्‍ती कई पत्रकारों से थी।

यह भी पढ़ें : सार्वजनिक होंगे प्रिंस चार्ल्‍स के पत्र

उल्‍लेखनीय है कि प्रिंस चार्ल्‍स और लेडी डायना 1992 में अलग हो गए थे और 1996 में दोनों का तलाक हो गया था।

Posted By: