तेहरान। ईरान में प्रदर्शनकारी देश के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खुमनेई को पद से हटाने की मांग कर रहे हैं क्योंकि उसके सैन्य गलती से एक यूक्रेनी विमान को मार गिराया गया था। इस घटना के बाद से ही केंद्रीय तेहरान में विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया था। ईरान की तरफ से पिछले सप्ताह दागी गई मिसाइल ने गलती से यूक्रेन के विमान को निशाना बनाया था, जिसमें सभी 176 लोगों की मौत हो गई थी।

ट्विटर पर पोस्ट किए गए वीडियो में तेहरान के अमीर कबीर विश्वविद्यालय के सामने "कमांडर-इन-चीफ (खुमनेई) इस्तीफा दो, इस्तीफा दो के नारे लगाए जा रहे हैं। इससे पहले शनिवार को ईरान ने कहा था कि उसकी सेना ने यूक्रेनी विमान को मार गिराया था और यह "विनाशकारी गलती" थी।

इस बीच राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया है- ईरान के नेताओं अपने प्रदर्शनकारियों की हत्या मत करना, अमेरिका सब देख रहा है। ट्रंप के ट्वीट से पहले अमेरिका के रक्षा सचिव मार्क एस्पर ने कहा कि ट्रंप अभी भी ईरान के नेताओं के साथ बात-चीत करने के इच्छुक हैं।

सेना ने दावा किया कि एयर डिफेंस को गलती से फायर कर दिया गया था। दरअसल, ईरान की तरफ से इराक में स्थित अमेरिकी सैन्य ठिकानों को निशाना बनाए जाने के बाद ईरान ने अपनी सेना के एयर डिफेंस को अलर्ट पर रख दिया था। इसके बाद ईरान ने बुधवार को दुर्घटनाग्रस्त विमान में अपना हाथ होने की बात से इनकार कर दिया था। हालांकि, शनिवार को एक शीर्ष रिवोल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर ने कहा कि उसने अधिकारियों को "अनजाने" में हुए इस मिसाइल हमले के बारे में बताया था, जिस दिन यह हुआ था।

ईरानी नेतृत्व के खिलाफ पिछली बार नवंबर में पेट्रोल की कीमतों में वृद्धि के बाद बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया था। यूक्रेनी फ्लाइट में कनाडा से पलायन करने वाले शीर्ष विश्वविद्यालयों के स्नातकों की मौत ने प्रदर्शनकारियों को प्रभावित किया है। कई प्रदर्शनकारियों ने महसूस किया कि उच्च बेरोजगारी का सामना कर रहे देश में उनका भविष्य बर्बाद हो गया है।

अमेरिका के साथ महीनों की तनातनी और हमले के बाद विमान दुर्घटना ने ईरान पर अंतरराष्ट्रीय दबाव बढ़ा दिया है। खुमनेई दुर्घटना के बारे में अभी तक चुप्पी बनाए हुए हैं और उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी सार्वजनिक की जानी चाहिए। वहीं, शीर्ष अधिकारियों और सेना की तरफ से विमान को मार गिराए जाने के मामले में माफी मांगी गई है। बताते चलें कि अमेरिका के एक ड्रोन हमले ने तीन जनवरी को इराक में शीर्ष ईरानी सैन्य कमांडर कासिम सुलेमानी की हत्या कर दी, जिससे बाद तेहरान ने बुधवार को इराक में स्थित अमेरिकी ठिकानों पर मिसाइल से हमले किए थे।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

fantasy cricket
fantasy cricket