Quad Summit 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को टोक्यो में पीएम फुमियो किशिदा के साथ द्विपक्षीय बैठक से पहले जापान के तीन पूर्व प्रधानमंत्रियों से मुलाकात की। योशीहिदे सुगा, शिंजो आबे और योशिरो मोरी के साथ ये बैठकें पीएम मोदी की विशाव सद्भावना और पर्सनल केमिस्ट्री को दर्शाती हैं।

जेआईए द्वारा किए गए योगदान की सराहना

योशिरो मोरी जापान-भारत संघ (JIA) के वर्तमान अध्यक्ष है। शिंजो आबे जल्द ही इस भूमिका को संभालेंगे। 1903 में स्थापित जेआईए, जापान के सबसे पुराने मैत्री संघों में से एक है। पीएम नरेंद्र मोदी ने राजनीति, आर्थिक और सांस्कृतिक क्षेत्रों में भारत और जापान के बीच आदान-प्रदान को बढ़ावा देने में योशिरो के नेतृत्व में जेआईए द्वारा किए गए महत्वपूर्ण योगदान की सराहना की।

सांस्कृतिक संबंधों को बढ़ावा देने पर चर्चा

उन्होंने शिंजो आबे को उनकी नई जिम्मेदारियों के लिए शुभकामनाएं भी दीं। जेआईए द्वारा अपनी जरूरी भूमिका जारी रखने की आशा की। नेताओं ने भारत-जापान विशेष रणनीतिक और वैश्विक साझेदारी के साथ शांतिपूर्ण, स्थिर और समृद्ध हिंद-प्रशांत के लिए साझा दृष्टिकोण पर भी चर्चा की। साथ ही सांस्कृतिक और लोगों के बीच संबंधों को और बढ़ावा देने के तरीकों पर भी चर्चा हुई।

पुरानी मुलाकात को किया याद

योशीहिदे सुगा से मुलाकात के दौरान नरेंद्र मोदी ने दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करने के लिए उनका शुक्रिया अदा किया। उन्होंने पिछली बातचीत को याद किया। जिसमें सितंबर 2021 में वाशिंगटन डीसी में पहली बार व्यक्तिगत रूप से क्वाड लीडर्स समिट के मौके पर उनकी मीटिंग भी शामिल थी।

इन-पर्सन क्वाड लीडर्स समिट में लिया भाग

इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने जापान, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के नेताओं के साथ टोक्यो में दूसरे इन-पर्सन क्वाड लीडर्स समिट में भाग लिया। शिखर सम्मेलन के दौरान नेताओं के स्वतंत्र, खुले और समावेशी इंडो-पैसिफिक के लिए अपनी प्रतिबद्धता, संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता और विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के सिद्धांतों को बनाए रखने के महत्व को दोहराया।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close