वाशिंगटन। उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन का सौतेला भाई किम जोंग नाम अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआइए का मुखबिर था, अमेरिकी अखबार वाल स्ट्रीट जर्नल ने ये दावा किया है। किम जोंग नाम की 2017 में मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर में हत्या कर दी गई थी। कई साल तक उत्तर कोरिया से बाहर रहे नाम अपने भाई किम की कठोर शासन पद्धति के मुखर आलोचक थे। उनकी हत्या के पीछे किम का ही हाथ होने की बात कही जाती रही है।

अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट में कहा गया है कि किम नाम CIA को गोपनीय सूचनाएं भेजा करते थे। इस मामले से जुड़े एक सूत्र के हवाले से इसमें कहा गया है कि सीआइए और किम नाम के बीच किसी ना किसी तरह की साठगांठ जरूर थी। हालांकि अमेरिका के कई पूर्व अधिकारियों का कहना है कि किम नाम की उत्तर कोरिया के शासन में कोई पैठ नहीं थी।

लंबे वक्त से उत्तर कोरिया से बाहर रहने की वजह से उन्हें शायद ही अपने देश की गोपनीय सूचनाओं की कोई जानकारी थी। इस खबर पर CIA ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

Posted By: Neeraj Vyas