Rishi Sunak: ब्रिटेन के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार ऋषि सुनक ने पारिवारिक जीवन के बारे में राज खोला। बताया कि जब वह और अक्षता मूर्ति से अमेरिका के एक यूनिवर्सिटी में मिले थे, तो उनके मन में कुछ था। द संडे टाइम्स के साथ एक इंटरव्यू में पूर्व चांसलर ने कई बातों का खुलासा किया। कहा कि मैं अविश्वसनीय रूप से साफ-सुथरा हूं, वह बहुत गन्दी है। मैं बहुत अधिक संगठित हूं और वह अधिक सहज है। बता दें अक्षता इन्फोसिस के सह-संस्थापक नारायण मूर्ति की बेटी है।

स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में हुई थी मुलाकात

ऋषि सुनक और अक्षता मुर्ति स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में एमबीए की पढ़ाई के दौरान मिले थे। उन्होंने 2006 में बेंगलुरु में शादी कर ली थी। साउथेम्प्टन में जन्मे ऋषि सुनक के माता-पिता भारतीय मूल के हैं। सुनक ने कहा, 'स्टैनफोर्ड में उन्होंने अपनी क्लास में बदलाव किया था, ताकि अक्षता के पास बैठ सकें। कपल की दो बेटियां 11 वर्षीय कृष्णा और नौ वर्षीय अनुष्का हैं। सुनक दोनों के जन्म के वक्त पत्नी अक्षता के साथ थे। वे बेटियों के लालन-पालन में मदद करना पसंद करते हैं।

मुद्रास्फीति बड़ा मुद्दा है

एक सवाल के जवाब में ऋषि ने बताया कि बढ़ती मुद्रास्फीति बड़ा मुद्दा है। लोग इस बात से चिंतित हैं कि आगे क्या होगा, कैसे होगा। बैंक ऑफ इंग्लैंड भी चेता चुका है कि वर्तमान में मुद्रास्फीति की दर 9.4% है। यह 13% तक पहुंच सकती है। उन्होंने कहा कि मेरे पास बढ़ती महंगाई से निपटने की कार्यबद्ध योजना है। इलेक्शन जीतने के बाद वे देश को इस संकट से उबारने का प्रयास करेंगे।

कंजरवेटिव पार्टी का अगला चुनाव जीतना मुश्किल

जनसंपर्क अभियान के दौरान पूर्व चांसलर ऋषि सुनक ने कहा कि उनकी लिज ट्रस टैक्स हटाने की बात कर रही हैं, लेकिन इससे मुद्रास्फीति और बढ़ेगी। अगर बढ़ती मुद्रास्फीति पर कंट्रोल नहीं पाया गया तो अगले आम चुनाव में कंजरवेटिव पार्टी के लिए जीत हासिल करना बड़ा मुश्किल होगा।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close