Russia Ukraine War । राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को यूक्रेन के कब्जाए गए चारों इलाकों को औपचारिक रूप से रूस का हिस्सा घोषित कर दिया। क्रेमलिन में आयोजित एक कार्यक्रम में राष्ट्रपति पुतिन ने डोनेट्स्क, लुहान्स्क, जपोरिजिया, खेरसन को रूस में शामिल करने के आधिकारिक दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर दिए। इस कार्यक्रम को संबोधित करते समय राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने अमेरिका सहित पश्चिमी देशों पर निशाना साधा और यूक्रेन के साथ फिर से बातचीत करने की भी बात कही। इस दौरान पुतिन ने भारत का भी जिक्र किया और कहा कि पश्चिमी देशों ने जैसे भारत को लूटा, अफ्रीका को लूटा और अब उसी तरह से रूस को भी गुलाम बनाना चाहते हैं और लूट मचाना चाहते हैं।

इन शर्त कर यूक्रेन से करेंगे चर्चा

पुतिन ने सख्त लहजे में कहा कि यूक्रेन के साथ बातचीत के दौरान कब्जे में लिए गए इलाकों पर चर्चा नहीं की जाएगी। वहीं यूक्रेन ने रूस से इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया है। यूक्रेन ने कहा कि रूस में जब तक पुतिन रहेंगे, तब तक कोई बातचीत नहीं होगी। पुतिन ने अपने संबोधन में पश्चिमी देशों पर रूस को कमजोर और विघटित करने का आरोप लगाया।

पुतिन ने कहा कि मध्य युग में पश्चिम ने अपने औपनिवेशिक शासन की शुरुआत की। पश्चिमी देशों ने भारत और अफ्रीका की लूट, चीन के खिलाफ युद्ध, नरसंहार, अफीम युद्ध किया। अब पश्चिमी देश रूस को 'कॉलोनी' बनाना चाहते हैं। पुतिन ने कहा कि रूस ने 20वीं सदी में हमारे देश ने उपनिवेशवाद विरोधी आंदोलन का नेतृत्व किया, जिससे कई देशों को स्वतंत्रता मिली।

अमेरिका पर गैस पाइप डैमेज करने आरोप

पुतिन ने अमेरिका सहित पश्चिम देशों पर जर्मनी में रूसी गैस पाइपलाइनों में तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया। पुतिन ने चेतावनी देते हुए कहा कि डोनेट्स्क, लुहान्स्क, जपोरिजिया, खेरसॉन के लोग अब रूसी नागरिक हो चुके हैं। अगर इन पर हमला हुआ तो उसे रूस पर हमला माना जाएगा। रूस अपने नागरिकों और अपनी संप्रभुता की रक्षा के लिए पूरी ताकत से जवाबी कार्रवाई करेगा।

गौरतलब है कि रूस ने 23 से 27 सितंबर के बीच दोनेत्स्क, लुहांस्क, जपोरिजिया और खेरसान में जनमत संग्रह करवाया था। इन चारों इलाकों के ज्यादातर लोगों ने रूस के साथ आने के पक्ष में वोट दिया है। समाचार एजेंसी का दावा है कि डोनेत्स्क में 99.2%, लुहांस्क में 98.4%, जपोरिजिया में 93.1% और खेरसान में 87% लोगों ने रूस के साथ जाने के पक्ष में वोट डाला था।

Posted By: Sandeep Chourey

  • Font Size
  • Close