रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बारे में एक पूर्व ब्रिटिश जासूस ने दावा किया है कि पुतिन "गंभीर रूप से बीमार" हैं। यह बिल्कुल स्पष्ट नहीं है कि यह बीमारी क्या है - चाहे वह लाइलाज हो या टर्मिनल, या जो भी हो। इस शख्‍स का नाम है क्रिस्टोफर स्टील, जिन्होंने डोनाल्ड ट्रम्प पर एक डोजियर लिखा था और 2016 के अमेरिकी चुनाव अभियान में रूसी हस्तक्षेप का आरोप लगाया। उन्‍होंने स्काई न्यूज को बताया, "निश्चित रूप से पुतिन वास्तव में गंभीर रूप से बीमार हैं। इस बीच, रूसी नेता के करीबी संबंधों वाले एक कुलीन वर्ग को कथित तौर पर यह कहते हुए भी पाया गया है कि "पुतिन ब्‍लड कैंसर से पीडि़त हैं। यूक्रेन युद्ध के बाद से रूसी राष्ट्रपति के स्वास्थ्य के बारे में अटकलें तेज हो गईं क्योंकि वे पिछले सप्ताह विजय दिवस समारोह सहित सार्वजनिक कार्यक्रमों में कमजोर दिखाई दिए।

सोशल मीडिया पर चल रही तस्वीरों और वीडियो में पुतिन ने अपने पैरों पर घने हरे रंग का आवरण लपेटा हुआ था, जब वह मास्को के रेड स्क्वायर में एक सैन्य परेड देखने के लिए द्वितीय विश्व युद्ध के दिग्गजों और वरिष्ठ गणमान्य व्यक्तियों के बीच बैठे थे। एक अमेरिकी पत्रिका न्यू लाइन्स द्वारा प्राप्त एक रिकॉर्डिंग में अज्ञात कुलीन वर्ग को पुतिन के स्वास्थ्य पर चर्चा करते हुए सुना गया था। यूक्रेन के एक शीर्ष सैन्य अधिकारी ने यह भी दावा किया है कि क्रेमलिन नेता को कैंसर और अन्य बीमारियां हैं।

उन्होंने स्काई न्यूज को बताया कि पुतिन "बहुत खराब मनोवैज्ञानिक और शारीरिक स्थिति में हैं और वह बहुत बीमार हैं। ब्लैक बॉम्बर जैकेट में पुतिन को भी खांसते हुए देखा गया था और वह अपने समूह के एकमात्र व्यक्ति थे जिन्हें अपेक्षाकृत हल्के 9-डिग्री सेल्सियस मौसम से निपटने के लिए अतिरिक्त कवरिंग की आवश्यकता थी। रूसी कुलीन वर्ग ने रिकॉर्डिंग में कहा कि यूक्रेन पर आक्रमण का आदेश देने से कुछ समय पहले पुतिन ने अपने रक्त कैंसर से जुड़ी अपनी पीठ की सर्जरी की थी।

हाल ही में पुतिन और रूसी रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु के बीच एक वीडियो बैठक में, उन्हें 12 मिनट की पूरी क्लिप के में मेज को कसकर पकड़ते हुए दिखाया गया था। इयान ब्रेमर ने 22 अप्रैल, 2022 को पोस्‍ट करते हुए कहा था कि, "हम सभी को उम्मीद है कि पुतिन मर जाएंगे।

उन्होंने रूस की अर्थव्यवस्था, यूक्रेन की अर्थव्यवस्था और कई अन्य अर्थव्यवस्थाओं को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया। बिल्कुल बर्बाद कर दिया। न्यू लाइन्स मैगैनाइज की रिपोर्ट के अनुसार, पश्चिमी व्यवसायी ने कुलीन वर्ग का नाम गुमनाम रखा है क्योंकि उसने बिना उसकी अनुमति के बातचीत रिकॉर्ड की थी।

Posted By: Navodit Saktawat

  • Font Size
  • Close