ये किसी के लिए भी चौंकाने वाली बात हो सकती है कि ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन अपने सालाना कम वेतन के चलते अगले छह माह बाद पद को छोड़ने पर विचार कर रहे हैं। बोरिस जॉनसन को इस बात का मलाल है कि पूर्व के प्रधानमंत्री अपने कामों में उनसे ज्यादा कमा लेते थे। जॉनसन कॉलम लिखते हैं और उनकी आमदनी का जरिया भी यही है। टोरी नेता बनने से पहले वे कॉलम लिखकर मौजूदा आय से ज्यादा कमा लेते थे। अब उनकी जिम्मेदारी बढ़ गई हैं, लेकिन सैलरी सीमित है। बोरिस जॉनसन का निजी तौर पर मानना है कि सालाना सैलरी 150,042 पाउंड (करीब 1.43 करोड़ रुपये) उनके खर्चों को देखते हुए काफी कम है। इतनी रकम में वे जीवन व्यतीत नहीं कर सकते। वे सोचते हैं कि पद से हटने के बाद मौजूदा आमदनी का दो गुना कॉलम लिखकर कमा सकते हैं। फिलहाल वे ब्रेक्जिट का हल करने के साथ ही कोरोना महामारी से निबटना चाहते हैं।

एक सांसद ने बताया कि बोरिस जॉनसन के छह बच्चे हैं, इनमें से कुछ युवा हैं। उन्हें भी आर्थिक सहायता देनी पड़ती है। उनको अपनी पूर्व पत्नी को तलाक को शेडलोड के रूप में अच्छी खासी रकम देनी पड़ी है। उनका एक छोटा बेटा स्कूल में पढ़ रहा है, जिसकी पढ़ाई के लिए भी उनको फीस भेजनी पड़ती है। बोरिस जॉनसन के इस विचार के आते ही ब्रिटेन में अगले प्रधानमंत्री पर भी कयास लगने शुरू हो गए। ब्रिटिश मीडिया में टोरी सांसद के हवाले से यह खबर आई है।

Posted By: Navodit Saktawat