रियाद। सऊदी अरब ने कहा कि इसका तेल उत्पादन सितंबर के अंत तक वापस सामान्य हो जाएगा। पिछले हफ्ते हौती विद्रोहियों के आरामको कंपनी के दो तेल संयंत्रों में किए गए ड्रोन हमले की वजह से तेल का करीब आधा उत्पादन बंद हो गया था। ऊर्जा मंत्री प्रिंस अब्दुलअजीज बिन सलमान को इस महीने की शुरुआत में इस भूमिका के लिए नियुक्त किया गया था।

उन्होंने कहा कि दुनिया के शीर्ष ऊर्जा निर्यातक ग्राहकों को आपूर्ति बनाए रखने के लिए सऊदी अपने रणनीतिक भंडार का इस्तेमाल कर रहा है। उन्होंने कहा- मेरे पास आपके लिए अच्छी खबर है। अंतरराष्ट्रीय बाजारों में तेल का उत्पादन हमले के पहले की स्थिति में वापस आ गया है। सितंबर के अंत तक उत्पादन सामान्य स्थित में होने लगेगा।

बताते चलें कि अमेरिका ने सऊदी अरब के क्षेत्रीय प्रतिद्वंद्वी ईरान पर इस हमले का आरोप लगाया है। हालांकि, किंग सलमान के बेटे प्रिंस अब्दुलअजीज ने इस बात से इनकार कर दिया कि शनिवार के हमलों के लिए कौन जिम्मेदार था, जिसकी वजह से वैश्विक ऊर्जा बाजारों में तेल आपूर्ति पर इसका असर पड़ा था।

उन्होंने कहा कि हम नहीं जानते कि हमले के पीछे कौन है। राज्य पेशेवर तरीके से और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त मानकों के आधार पर हमले का सबूत चाहता है। सऊदी की सबसे बड़ी सरकारी तेल कंपनी आरामको के चेयरमैन यासिर अल-रुमयान ने कहा कि आईपीओ जारी रहेगा, हम कुछ नहीं रोकेंगे।

बताते चलें कि रियाद में करीब 9.9 मिलियन बैरल तेल का प्रति दिन निकाला जाता है, जिसमें से करीब 7.0 मिलियन का निर्यात किया जाता है। सऊदी के तेल के सबसे ज्यादा खरीदार एशियाई देश हैं।