रियाद। सऊदी अरब में अब महिलाओं को पुरुष अभिभावक की अनुमति के बिना विदेश यात्रा करने की अनुमति मिलेगी। अभी तक लगे इस प्रतिबंध की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर हुई भारी आलोचना के बाद इसे खत्म कर दिया गया है। ओकाज समाचार पत्र के अनुसार, कुछ महिलाओं को देश से भागने के लिए इस चरम उपाय का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित करता है।

समाचार पत्र ने कहा कि अधिकारियों ने यात्रा दस्तावेजों और नागरिक की स्थिति को नियंत्रित करने वाले कानूनों में संशोधन को मंजूरी दे दी है। अब 21 साल से अधिक उम्र की महिलाओं को पासपोर्ट हासिल करने और एक अभिभावक की सहमति हासिल किए बिना देश छोड़ने की अनुमति होगी। हालांकि, अखबार ने यह नहीं बताया कि उसे यह जानकारी कहां से मिली।

राज्य के आधिकारिक गजट ने ट्वीट किया कि यात्रा नियमों, श्रम कानून और नागरिक स्थिति कानून में संशोधन को इसके अगले संस्करण में शामिल किया जाएगा। क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने सऊदी अरब के लिए अपने आर्थिक परिवर्तन की योजना के तहत सामाजिक प्रतिबंधों में ढील दी है। यह देश अब तेल से होने वाली आय के अलावा विविधता लाने के लिए विदेशी निवेश को आकर्षित करने की तरफ बढ़ रहा है।

सरकार ने राज्य की कुख्यात धार्मिक पुलिस की शक्तियों को भी सीमित कर दिया है और महिलाओं के कार चलाने पर लगाए गए प्रतिबंध को भी हटा लिया है। साथ ही अधिकारियों ने घरेलू आलोचना पर नकेल कसते हुए राज्य की सबसे प्रमुख महिला अधिकार कार्यकर्ताओं में से कुछ को गिरफ्तार कर लिया है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020