मक्का। सऊदी अरब में इसी सप्ताह शुरू होने जा रही सालाना हज यात्रा की आपात सेवा में पहली बार महिलाओं को भी शामिल किया गया है। कंप्यूटर के सामने सात महिलाएं मक्का से आने वाले कॉल पर ध्यान देंगी।

सभी महिलाएं पर्दे में रहेंगी। उनका चेहरा काला नकाब से ढका रहेगा। सऊदी अरब में पारंपरिक रूप से घरों में कैद रहने वाली महिलाओं को शिक्षा और रोजगार मुहैया कराया जा रहा है।

कामगारों में आधी आबादी की भागीदारी बढ़ाने के लिए उन्हें शिक्षा और रोजगार मुहैया कराया जा रहा है। आपात सेवा में शामिल महिलाएं फोन करने वाले की स्थिति की जांच करेंगी।

लोग आग, अपराध, बीमार होने या यातायात दुर्घटना की स्थिति में मदद का आग्रह कर सकते हैं।

अंग्रेजी बोलने में सक्षम महिलाओं को इस काम पर लिए जाने से पहले प्रशिक्षण दिया गया। दूसरे कमरे में एक दर्जन पुरुष भी यही जवाबदेही निभाएंगे।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020