Scarlet Fever in Britain: कोरोना वायरस महामारी के बीच अब ब्रिटेन में स्कारलेट बुखार का तांडव सामने आया है। यूके में इस फीवर के 30 हजार केस सामने आए हैं और 19 बच्चों की मौत हो गई। ब्रिटेन की हेल्थ सिक्योरिटी एजेंसी ने बताया कि पिछले सप्ताह स्कारलेट फीवर के दस हजार नए मामले दर्ज हुए थे। इस घातक बुखार से 19 मासूम की मौत हो गई है। अब इसके अमेरिका तक पहुंचने की संभावना है।

गार्डियन की एक रिपोर्ट के अनुसार, 12 सितंबर से अब तक 30 हजार लोग स्कारलेट बुखार के चपेट में आ चुके हैं। संक्रमण में बहुत अधिक बढ़ोतरी हुई है। यह आंकड़ा डॉक्टरों ने दिया है। उन्होंने स्थानीय अधिकारियों और स्वास्थ्य सुरक्षा टीम को इसकी जानकारी दी थी। 2017 और 2018 के मुकाबले 2022 में केस 128 फीसदी ज्यादा है। एजेंसी ने कहा कि 11 से 18 दिसंबर के बीच 9482 केस सामने आए हैं।

स्कारलेट बुखार क्या है?

स्कारलेट बुखार बैक्टीरियल इंफेक्शन है। ग्रुप ए स्ट्रेप जीवाणु से फैलता है। यह बैक्टीरिया व्यक्ति के ब्लड में पहुंच सकता है। वहीं एक जानलेवा बीमारी का कारण बन सकता है। यह संक्रमण भी कोरोना की तरह एक व्यक्ति से दूसरे में फैल सकता है।

क्या हैं स्कारलेट बुखार के लक्षण?

- स्कारलेट के पहले लक्षण में तेज बुखार आता है।

- गले में खराश और सूजन के साथ दाने निकल सकते हैं।

- शरीर पर लाल और उभरे हुए चकत्ते पड़ जाते हैं।

- चकत्ते पहले फेस पर फिर गले और पूरे बॉडी में फैल जाते हैं।

स्कारलेट बुखार का इलाज

स्कारलेट बुखार का इलाज आसानी से उपलब्ध है। डॉक्टरों का मानना है कि स्कारलेट के लक्षण होने पर मरीज को घर पर ही रहना चाहिए। लक्षण वाले शख्स को गर्म और नमक के पानी से गरारे करना चाहिए।

यह भी पढ़ें-

Belgium Lottery: एक रात में बदल गई इस गांव की किस्मत, 165 लोग बन गए करोड़पति

Viral Video: दुल्हे ने अपनी दुल्हन को गिफ्ट में दिया गधा, वजह जानकर सिर पकड़ लेंगे, देखें वीडियो

Posted By: Kushagra Valuskar

  • Font Size
  • Close