नैशविले। अमेरिका के टेनेसी प्रांत की राजधानी नैशविले में गुरुवार को 56 साल के कैदी स्टीफन वेस्ट को इलेक्ट्रिक चेयर पर बैठाकर मौत की सजा दी गई।

अमेरिका के मिसीसिपी, ओक्लाहोमा और उटाह राज्यों में मौत की सजा पर अमल के लिए फायरिंग स्क्वाड का तरीका अपनाया जाता है।

वेस्ट को 1986 में 51 साल की एक महिला और उसकी 15 वर्षीय बेटी की हत्या के मामले में मौत की सजा सुनाई गई थी। उसे किशोरी से दुष्कर्म का भी दोषी करार दिया गया था।

खुद ने ही की थी यह मांग

वेस्ट ने अपनी सजा के लिए इस हफ्ते इलेक्ट्रिक चेयर के तरीके को अपनाए जाने की गुजारिश की थी, जिसे मान लिया गया। टेनेसी में आमतौर पर मृत्युदंड के लिए जहर का इंजेक्शन इस्तेमाल किया जाता है। वेस्ट के वकील ने अदालत से अपील की थी कि जहर के इंजेक्शन से मौत में तकलीफ ज्यादा होती है।

इसके पहले कहा था गोली मार दी जाए

वेस्ट के वकीलों ने इससे पहले अदालत से गुजारिश की थी कि उसे फायरिग स्क्वाड या सिर के पीछे गोली मारकर भी मृत्युदंड दिया जा सकता है। लेकिन अदालत ने उनकी मांग खारिज कर दी थी।