नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को भारत के सिख समुदाय की तरफ से करतारपुर में नगर कीर्तन में आने और जुलूस शुरू करने का न्योता दिया है। शिरोमणि गुरुद्वार प्रबंध कमेटी ने 25 जुलाई को होने वाले कार्यक्रम में शामिल होने के लिए निमंत्रण भेजा है। सिख समुदाय गुरु नानक की 550 वीं जयंती पर इस दिन नगर कीर्तन का आयोजन किया जाएगा।

बताते चलें कि शिरोमणि गुरुद्वार प्रबंध कमेटी दुनिया भर में ऐतिहासिक गुरुद्वारों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार सिखों के सर्वोच्च निकाय है। इस कार्यक्रम के लिए पंजाब के गवर्नर चौधरी मोहम्मद सरवर और पंजाब के मुख्यमंत्री उस्मान बुजदार को भी न्योता दिया गया है। निमंत्रण में कहा गया है कि जब यह 100 दिन का जुलूस शुरू हो, तो शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक समिति श्री अमृतसर चाहता है कि आप यहां व्यक्तिगत रूप से उपस्थिति रहें।

समारोह 25 जुलाई से ननकाना साहिब में शुरू होगा। पाकिस्तान और भारत के बीच तनावपूर्ण संबंधों ने सिख तीर्थयात्रियों के लिए धार्मिक गतिविधियों में भाग लेना मुश्किल हो गया है। हालांकि, करतारपुर साहिब कॉरिडोर के बनने के बाद सिखों का पाकिस्तान में स्थित ननकाना साहिब पहुंचना आसान होगा। इसे दोनों देशों के बीच बेहतर संबंधों के लिए "पथ-मार्ग" के रूप में देखा जाता है।

इसके शुरू होने के बाद गलियारा के जरिये भारत से सिख पाकिस्तान में स्थित उनके सबसे पवित्र तीर्थस्थल तक बिना वीजा के पहुंच सकेंगे। यह 1947 में हुए बंटवारे के बाद दो परमाणु-सशस्त्र पड़ोसियों के बीच पहला वीजा-मुक्त गलियारा भी होगा।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai