Afghanistan : ताजा मिली जानकारी के मुताबिक तालिबान ने नई सरकार का ऐलान कर दिया है। संयुक्‍त राष्‍ट्र (UN) की आतंकी सूची में शामिल मुल्‍ला मोहम्‍मद हसन अखुंद (Mullah Mohammad Hassan Akhund) को हेड ऑफ स्टेट यानी प्रधानमंत्री बनाया गया है। वहीं तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के अध्यक्ष मुल्ला अब्दुल गनी बरादर (Mullah Abdul Ghani Baradar) को डिप्टी पीएम का पोस्ट मिला है। दूसरे डिप्टी पीएम का पद मौलवी हनाफी को दिया गया है। रक्षा मंत्री (कार्यकारी) का प्रभार मुल्ला याकूब को मिला है। वहीं गृह मंत्रालय (कार्यकारी) का प्रभार सिराजुद्दीन हक्कानी को दिया गया है। मीडिया रिपोर्ट की मानें तो तालिबान 9/11 हमले वाले दिन 11 सितंबर को नई सरकार का ऐलान कर सकता है।

कौन है मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद?

अफगानिस्तान के पीएम बने मुल्‍ला मोहम्‍मद हसन अखुंद (Mullah Mohammad Hassan Akhund) 20 वर्ष तक तालिबान की लीडरशिप काउंसिल 'रेहबरी शूरा (Rehbari Shura)' की अगुवाई कर चुके हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक तालिबान (Taliban) के सभी फैसले लेने वाले शक्तिशाली निकाय ‘रहबरी शूरा’ (Rehbari Shura) के प्रमुख मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को खुद चरमपंथी संगठन के शीर्ष नेता मुल्ला हिबतुल्लाह अखुंदजादा (Mullah Hebatullah Akhundzada) ने अफगानिस्तान के नए प्रमुख के रूप में नामित किया है। अमेरिका के साथ युद्ध छिड़ने के पहले अखुंद ने 1996 से 2001 तक तालिबान की पिछली सरकार के दौरान विदेश मंत्री और उप प्रधानमंत्री के रूप में कार्य किया था। मुल्‍ला मोहम्‍मद हसन अखुंद को सशस्‍त्र आंदोलन के संस्‍थापकों में शुमार किया जाता है।

तालिबान के संस्थापक मुल्ला मोहम्मद उमर के बेटे मुल्ला याकूब (Mullah Yaqoob) को देश के रक्षा मंत्री के रूप में पदभार संभालने का मौका मिला है। वहीं, हक्कानी नेटवर्क (Haqqani Network) के प्रमुख सिराजुद्दीन हक्कानी (Sirajuddin Haqqani) को कार्यकारी गृह मंत्री बनाया गया है।

Posted By: Shailendra Kumar