इस्लामाबाद। अफगान तालिबान ने कहा है कि उसके वार्ताकार अगले हफ्ते इस्लामाबाद में पाकिस्तान और अमेरिका के शीर्ष अधिकारियों के साथ अहम दौर की बातचीत करेंगे। सोमवार को होने वाली यह वार्ता अफगानिस्तान में 17 साल से जारी संघर्ष को खत्म करने की दिशा में अहम मानी जा रही है।

तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्ला मुजाहिद ने बुधवार को जारी एक बयान में कहा, 'पाकिस्तान सरकार के औपचारिक आमंत्रण पर हमारे प्रतिनिधिमंडल और अमेरिका के बीच सोमवार को इस्लामाबाद में बैठक होगी। तालिबान का प्रतिनिधिमंडल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात भी करेगा।

इस मुलाकात में पाकिस्तान और अफगान संबंधों पर व्यापक रूप से चर्चा की जाएगी। अमेरिका के साथ नियमित रूप से वार्ता चल रही है।' तालिबान की इस घोषणा की अभी तक ना तो अमेरिका और ना ही पाकिस्तान ने पुष्टि की है।

आधे अफगानिस्तान पर तालिबान का नियंत्रण

अफगानिस्तान के करीब आधे हिस्से पर तालिबान का नियंत्रण है। यह आतंकी संगठन 2001 में अमेरिका के हमले के बाद से ज्यादा मजबूत हुआ है। युद्ध प्रभावित इस देश में अमेरिका के करीब 14 हजार सैनिक तैनात हैं।

कतर में छह दिन चली थी वार्ता

तालिबान से वार्ता की अगुआई कर रहे अमेरिका के विशेष दूत जालमे खलीलजाद ने हाल में कतर में छह दिनों तक चली वार्ता के बाद कहा था कि शांति प्रयासों में उल्लेखनीय प्रगति हुई है।

Posted By: